विश्व

इमरान खान ने फिर लगाया पंजाब में विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप

Neha Dani
21 July 2022 7:45 AM GMT
इमरान खान ने फिर लगाया पंजाब में विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप
x
सांसदों को रिश्वत देने के कथित प्रयास में शामिल होने का भी आरोप लगाया।

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने पंजाब में विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पंजाब में उनकी पार्टी के विधायकों को 50 करोड़ रुपये का ऑफर दिया जा रहा है। इमरान ने दावा किया कि पंजाब चुनाव से पहले उनकी पार्टी के विधायकों को पाला बदलने के लिए दी गई रिश्वत के पीछे पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के मुखिया आसिफ अली जरदारी का हाथ था। दरअसल, दो महीने पहले पंजाब सूबे में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के 25 विधायक पाला बदलकर विपक्ष के साथ चले गए। इससे सूबे में इमरान की पार्टी की सरकार गिर गई और प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के बेटे हमजा शहबाज बहुमत साबित कर मुख्यमंत्री बन गए। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने विधायकों को दलबदल का दोषी बताते हुए उनकी सदस्यता निरस्त कर दी थी।


इमरान बोले- सिंध हाउस खरीद-फरोख्त को दोहराया जा रहा
इमरान खान ने ट्वीट किया कि आज लाहौर में सिंध हाउस में विधायकों की खरीद-फरोख्त को दोहराया जा रहा है। विधायकों को खरीदने के लिए 50 करोड़ रुपये तक की पेशकश की गई थी। इसके पीछे आसिफ जरदारी का हाथ है, जो अपने भ्रष्टाचार के लिए एनआरओ (राष्ट्रीय सुलह अध्यादेश) प्राप्त करते हैं और लूट की संपत्ति से लोगों को खरीदते हैं। उन्हें तो जेल में होना चाहिए। इमरान ने कहा कि विधायकों की वफादारी खरीदने की कोशिश न केवल लोकतंत्र पर हमला है, बल्कि समाज के नैतिक ताने-बाने पर भी हमला है।

सुप्रीम कोर्ट पर भी बरसे इमरान खान
इमरान खान ने कहा कि अगर SC (सुप्रीम कोर्ट) ने कार्रवाई की होती और इन पाला बदलने वालों को जीवन भर के लिए प्रतिबंधित कर दिया होता तो यह एक मिसाल के रूप में काम करता। क्या अमेरिकी प्रशासन के हैंडलर्स ने साजिश कर पाकिस्तान में इंपोर्टेड सरकार को नहीं स्थापित किया। इससे देश को गंभीर नुकसान हो रहा है। इमरान के दावे ने एक दिन पहले पीटीआई के कई नेताओं ने आरोप लगाया था कि उन्हें पाला बदलने के लिए रिश्वत की पेशकश की जा रही है।




पीटीआई विधायकों पैसे ऑफर करने के किया था दावा
पीटीआई विधायकों ने आरोप लगाया कि सरकार ने खुफिया एजेंसियों और पुलिस के माध्यम से मतदान में 'हेरफेर' करने के लिए धमकाया और दबाव डाला था। इस बीच, पीटीआई नेता शाहबाज गिल ने आरोप लगाया कि उनकी पार्टी के एक विधायक को जरदारी और पीएमएल-एन ने 25 करोड़ रुपये में खरीदा था। उन्होंने कहा कि इमरान के निर्देश पर कथित खरीद-फरोख्त के खिलाफ आज लाहौर के लिबर्टी चौक पर विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया गया है।

फवाद चौधरी ने आसिफ अली जरदार पर साधा निशाना
पीटीआई के उपाध्यक्ष फवाद चौधरी ने आरोप लगाया कि रहीम यार खान से पार्टी का एक विधायक मसूद मजीद 40 करोड़ रुपये की रिश्वत दी गई थी। जिसके बाद वह विधायक तुर्की भाग गया। उन्होंने आरोप लगाया कि इसके पीछे आसिफ अली जरदारी का हाथ था। फवाद चौधरी ने कहा कि उनकी पार्टी के तीन और विधायकों ने शीर्ष अदालत में अपना हलफनामा पेश किया था, जिसमें बताया गया था कि उन्हें रिश्वत की पेशकश कैसे की गई। उन्होंने पीएमएल-एन नेता अताउल्लाह तरार पर पीटीआई सांसदों को रिश्वत देने के कथित प्रयास में शामिल होने का भी आरोप लगाया।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta