विश्व

OMG...कोरोना टेस्ट पर अड़ा रहा अस्पताल, 8 महीने के बच्चे की गर्भ में मौत

Admin1
6 Jan 2022 12:06 PM GMT
OMG...कोरोना टेस्ट पर अड़ा रहा अस्पताल, 8 महीने के बच्चे की गर्भ में मौत
x
जानें पूरा मामला।

नई दिल्ली: चीन में अस्पताल की लापरवाही की वजह से 8 महीने के अजन्मे बच्चे की मौत मां के गर्भ में ही हो गई। बताया जा रहा है कि प्रसव से तड़प रही यह महिला अस्पताल के बाहर इलाज के बिना कराह रही थी लेकिन अस्पताल प्रशासन ने बिना कोविड टेस्ट किये उसे अंदर जाने से मना कर दिया। इसके बाद आखिरकार इस महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे ने तम तोड़ दिया। इस मामले में अस्पताल प्रशासन की आलोचना होने के बाद यहां के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने माफी मांगी है।

दरअसल चीन में कोरोना वायरस ने फिर से सिर उठाना शुरू कर दिया है। जिसके बाद हालात को देखते हुए यहां कई जगहों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। सेंट्रल चीन के शिआन (Xi'an) शहर में करीब 13 मिलियन लोग रखते हैं और यहां कोरोना को हराने के लिए लोगों को अपने घरों में कैद रहने की सख्त हिदायत दी गई है।
वीडियो में दिखीं मजबूर महिला
बताया जा रहा है कि इसी शहर में यह घटना हुई है। पीड़ित महिला की एक रिश्तेदार ने 1 जनवरी को इस पूरी घटना का जिक्र एक सोशल मीडिया पर पोस्ट कर किया। इस पोस्ट में उन्होंने घटना की तस्वीरें और वीडियो भी शेयर किया है। जिसमें नजर आ रहा था कि प्रसव दर्द से कराह रही महिला अस्पताल के बाहर एक प्लास्टिक के स्टूल पर बैठी हैं और वहां हर तरह खून है। हालांकि, बाद में इस पोस्ट को डिलीट कर दिया गया लेकिन तब तक इसे लाखों लोगों ने देख लिया था। इसके बाद लोगों ने अस्पताल प्रशासन की जमकर आलोचना की थी।
निगेटव रिपोर्ट मांग रहा था अस्पताल
ट्विटर की तरह यहां चलने वाले एक प्लेटफॉर्म Weibo पर पीड़ित महिला की रिश्तेदार ने इस पूरी घटना का जिक्र किया था। बताया जा रहा है कि अस्पताल के कर्मचारियों ने गर्भवती महिला को करीब 2 घंटे तक अस्पताल में भर्ती नहीं किया क्योंकि उनके पास कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट नहीं थी। हालांकि, इस पोस्ट की पुष्टि अभी तक नहीं की गई है।
अधिकारी जता रहे खेद
बताया जा रहा है इस वीडियो में शिआन शहर में रहने वाले लोगों की मजबूरी नजर आई तो सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। न्यूज एजेंसी 'AFP' के मुताबिक इसके बाद शिआन के हेल्थ कमिशन डायरेक्टर Liu Shunzhi सामने आए और इस पूरी घटना के लिए माफी मांगने लगे। Liu Shunzhi ने गुरुवार को पत्रकारों से कहा कि उन्हें खेद है कि महामारी के दौरान स्वास्थ्य सेवाएं हासिल करने में परेशानी हो रही है।
उन्होंने बताया कि अस्पताल प्रशासन को पीड़िता को मुआवजा देने के निर्देश दिया गया है। इससे पहले यहां प्रशासन ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि शिआन के Gaoxin Hospital में जो कुछ भी हुआ वो बेहद गंभीर मामला है और इसका गंभीर सामाजिक असर पड़ा है। स्थानीय हेल्थ ब्यूरो को इस मामले में जांच के आदेश दिये गये हैं। अस्पताल के जनरल मैनेजर को सस्पेंड कर दिया गया है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it