विश्व

ब्रिटेन में कोरोना महामारी के बीच सरकार ने यात्रा नियमों में किया बदलाव, प्रस्थान से पहले जांच की अनिवार्यता खत्म

Renuka Sahu
6 Jan 2022 4:23 AM GMT
ब्रिटेन में कोरोना महामारी के बीच सरकार ने यात्रा नियमों में किया बदलाव, प्रस्थान से पहले जांच की अनिवार्यता खत्म
x

फाइल फोटो 

ब्रिटेन में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी देखी जा रही है. देश में 2,18,724 रिकॉर्ड दैनिक मामले सामने आए हैं.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। ब्रिटेन में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी देखी जा रही है. देश में 2,18,724 रिकॉर्ड दैनिक मामले सामने आए हैं. इस बीच सरकार ने ट्रेवल्स नियमों में बदलाव किया है. इंग्लैंड में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए प्रस्थान से पूर्व जांच की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है. सरकार ने कोविड को लेकर यात्रा नियमों में बदलाव की घोषणा करते हुए कहा है कि अब यात्रियों को प्रस्थान से पहले जांच की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है. इसके साथ ही अब यात्रियों के आगमन पर उन्हें क्वारंटीन (Quarantine) होने की भी जरूरत नहीं है.

प्रस्थान से पहले जांच की अनिवार्यता खत्म
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पर्यटन उद्योग ने सरकार से यात्रा नियमों (Travel Rules) में बदलाव करने का आग्रह किया था और कहा गया था कि समुदाय के भीतर ओमिक्रोन संक्रमण की अधिक दर के मद्देनजर इन यात्रियों के कारण कोई वास्तविक प्रभाव नहीं पड़ेगा. आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि इंग्लैंड में 15 में से एक व्यक्ति 2021 के अंतिम हफ्ते में कोरोना वायरस से संक्रमित था. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का कहना है कि अब ओमिक्रोन का इतना प्रसार हो चुका है कि इन उपायों का संक्रमण के मामलों में बढ़ोत्तरी पर सीमित प्रभाव पड़ रहा है जबकि ट्रैवल उद्योग पर लागतें बनी हुई हैं.
ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड मामले
प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि संक्रमण को रोकने के लिए पिछले महीने में लगे यात्रा प्रतिबंध को अब अप्रभावी कर दिया गया हैं. इंग्लैंड में शुक्रवार से हम प्रस्थान-पूर्व जांच की अनिवार्यता को खत्म कर देंगे. इस वजह से कई यात्रियों को यात्रा करने में दिक्कतें आ रही थी. रैपिड एंटीजन जांच में संक्रमित पाए जाने के बाद पीसीआर जांच से पुष्टि किए जाने की अनिवार्यता अब समाप्त होगी. इंग्लैंड में अभी तक रैपिड एंटीजन जांच में संक्रमित पाए जाने के बाद पीसीआर जांच कराना अनिवार्य था. यूके में पिछले साल नवंबर के अंत में ओमिक्रोन वेरिएंट के आने के कारण कोविड संक्रमण के मामलों में एक नया उछाल देखा गया है. हाल के दिनों में यहां दैनिक मामलों की संख्या 200,000 की सीमा को पार कर गई है.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it