विश्व

पूर्व राष्‍ट्रपति गनी तालिबान के कब्‍जे के बाद से ही देश से है गायब, अमेरिका करेगा जांच

Neha Dani
7 Oct 2021 4:31 AM GMT
पूर्व राष्‍ट्रपति गनी तालिबान के कब्‍जे के बाद से ही देश से है गायब, अमेरिका करेगा जांच
x
आपको बता दें कि अमेरिका और दूसरे देशों ने अफगानिस्‍तान को दी जाने वाली हर मदद को पूरी तरह से बंद कर दिया है.

अफगानिस्‍तान (Afghanistan) के पूर्व राष्‍ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. अमेरिका ने फैसला किया है कि वो इस बात की जांच करेगा कि कहीं पूर्व राष्‍ट्रपति देश से पैसा तो लेकर नहीं भागे हैं. न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के Special Inspector General for Afghanistan Reconstruction (SIGAR) की तरफ से कहा गया है कि वो जांच करेगा कि क्‍या वाकई गनी देश छोड़ते समय लाखों डॉलर्स अपने साथ ले गए हैं.

SIGAR के मुखिया जॉन सोप्‍को ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की उपसमिति को बताया है, 'अभी तक इस इस बात की कोई पुष्टि नहीं हो सकी है. हम इस मामले की जांच कर रहे हैं. असल में ओवरसाइट और सरकारी सुधार समिति की तरफ से इस मामले को देखने के लिए कहा गया है.' 15 अगस्‍त को जब तालिबान ने काबुल पर कब्‍जा किया तो खबरें आईं कि अफगानिस्‍तान के पूर्व राष्‍ट्रपति देश छोड़कर भाग गए हैं. खबरें ये भी थीं कि वो जाते समय अपने साथ देश के लिए भेजे गए कई मिलियन डॉलर्स भी ले गए हैं.
अमेरिकी कांग्रेस ने की थी जांच की मांग
ये सिर्फ आशंकाएं हैं और सोप्‍को की टीम से अमेरिकी कांग्रेस ने मामले की पड़ताल के लिए कहा था. पूर्व राष्‍ट्रपति गनी अभी तक अपने देश के लोगों के निशाने पर हैं. इसके अलावा कई लोग इस तरह से देश छोड़कर जाने पर उनकी आलोचना कर रहे हैं. सोप्‍को के ऑफिस की तरफ से इस बात की जांच की जा रही है कि पिछले 20 सालों से अमेरिका की तरफ से जो धनराशि अफगानिस्‍तान के पुर्ननिर्माण के लिए भेजी जा रही थी तालिबान के कब्‍जे से पहले उसमें कहीं कोई धोखाधड़ी या फिर उसकी बर्बादी तो नहीं हुई है.
अफगानिस्‍तान में हद से ज्‍यादा भ्रष्‍टाचार
सोप्‍को ने विदेश मामलों के लिए बनी उपसमिति से कहा है कि विदेशों में डेवलपमेंट के लिए जो मदद भेजी गई है उस अमेरिकी प्रोजेक्‍ट के असफल होने पर आश्‍चर्य नहीं होना चाहिए. उनका कहना था कि जिस तरह से अफगानिस्‍तान में भ्रष्‍टाचार और कुप्रबंधन था, उसके बाद ये बहुत ही लाजिमी सी बात है. उन्‍होंने हाउस पैनल को बताया, 'अफगानिस्‍तान में भ्रष्‍टाचार इस कदर बढ़ गया था कि आखिरकार उसने देश में पुर्ननिर्माण और सुरक्षा के मिशन के लिए खतरा पैदा कर डाला था.' आपको बता दें कि अमेरिका और दूसरे देशों ने अफगानिस्‍तान को दी जाने वाली हर मदद को पूरी तरह से बंद कर दिया है.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta