विश्व

ऑस्ट्रेलिया में 21 मई को कराए जाएं चुनाव, PM स्कॉट मॉरिसन की अपील

Renuka Sahu
10 April 2022 4:08 AM GMT
ऑस्ट्रेलिया में 21 मई को कराए जाएं चुनाव, PM स्कॉट मॉरिसन की अपील
x

फाइल फोटो 

ऑस्ट्रेलिया में चुनाव को लेकर सुगबुगाहट शुरू हो गई है और अगले महीने वहां पर संघीय चुनाव कराए जाने को लेकर आह्वान किया गया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। ऑस्ट्रेलिया में चुनाव (Australia election 2022) को लेकर सुगबुगाहट शुरू हो गई है और अगले महीने वहां पर संघीय चुनाव कराए जाने को लेकर आह्वान किया गया है. ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (PM Scott Morrison) ने 21 मई में चुनाव कराए जाने का अपील की है जिस पर आज रविवार को फैसला लिया जा सकता है. माना जा रहा है कि यह चुनाव चीन की आर्थिक दादागीरी (Chinese economic coercion), जलवायु परिवर्तन और कोरोना महामारी (COVID-19 pandemic) समेत कई अन्य मुद्दों पर लड़ा जाएगा.

स्कॉट मॉरिसन ने आज रविवार को ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्राध्यक्ष महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के प्रतिनिधि गवर्नर-जनरल डेविड हर्ले से चुनाव की तारीख निर्धारित करने की सिफारिश की. वह रविवार शाम यह घोषणा कर सकते हैं कि ऑस्ट्रेलिया में 14 मई को चुनाव होंगे या फिर 21 मई को. ऑस्ट्रेलिया में सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव गठबंधन चौथी बार तीन साल का कार्यकाल हासिल करने की कोशिशों में जुटा है.
2019 में मामूली अंतर से जीते थे मॉरिसन
मॉरिसन के सत्तारूढ़ गठबंधन के पास प्रतिनिधि सभा में अभी 76 सीटें हैं और सत्ता में बने रहने के लिए कम से कम इतनी सीट चाहिए होगी. 2019 में हुए पिछले चुनाव में स्कॉट मॉरिसन ने अपने नेतृत्व वाले गठबंघन को मामूली अंतर से जीत दिलाई थी. हालांकि, चनाव पूर्व सर्वेक्षणों में विपक्षी दल ऑस्ट्रेलियन लेबर पार्टी को लगातार आगे बताया जा रहा था.
लिबरल पार्टी की अगुवाई वाला गठबंधन इस बार भी ज्यादातर सर्वेक्षणों में पीछे चल रहा है, लेकिन कई विश्लेषकों ने चुनाव में कांटे की टक्कर होने का अनुमान जताया है.
पिछली बार जब चुनाव हुआ था, तब ऑस्ट्रेलिया भीषण गर्मी और सूखे का सामना कर रहा था. वह साल ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणपूर्वी जंगलों में लगी भीषण आग के साथ खत्म हुआ था, जिसमें कम से कम 33 लोगों की झुलसने, जबकि 400 से अधिक लोगों की धुएं के कारण मौत हो गई थी.
चीन के साथ व्यापार मुद्दा भी छाए रहने के आसार
उस समय स्कॉट मॉरिसन की हवाई में अपने परिवार के साथ छुट्टियां मनाने की काफी आलोचना की हुई थी, क्योंकि उनका गृह नगर सिडनी जहरीले धुएं की गिरफ्त में था. लोगों के आक्रोश के बाद वह बीच में ही छुट्टियों से लौट आए थे.
नवंबर 2021 में स्कॉटलैंड के ग्लास्गो में आयोजित संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन में कार्बन उत्सर्जन में कटौती के लिए अधिक महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय न करने को लेकर भी उनकी काफी आलोचना हुई थी. हालांकि ऑस्ट्रेलियन लेबर पार्टी ने 2030 तक उत्सर्जन में 43 प्रतिशत तक की कमी लाने का भरोसा दिलाया है.
ऑस्ट्रेलिया शुरुआत में अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर पाबंदियां लगाकर कोरोना महामारी से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या पर नियंत्रण पाने में कामयाब रहा था, लेकिन उसके लिए अधिक संक्रामक डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट के प्रसार को रोकना काफी मुश्किल साबित हुआ. विपक्ष ऑस्ट्रेलिया में कोविड टीकाकरण की धीमी रफ्तार को लेकर भी सरकार को घेर रहा है.
कंगारू लैंड में चुनाव के दौरान चीन के साथ व्यापार संबंध का मुद्दा भी छाया रह सकता है. चीन ने हाल के वर्षों में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कई औपचारिक और अनौपचारिक व्यापार प्रतिबंध लगाए हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta