विश्व

जर्मनी में रूसी दूतावास के बाहर राजनयिक का मिला शव, जासूस होने की आशंका

Subhi
7 Nov 2021 2:46 AM GMT
जर्मनी में रूसी दूतावास के बाहर राजनयिक का मिला शव, जासूस होने की आशंका
x
जर्मनी की न्यूज वेबसाइट डेर स्पीगल ने बताया, बर्लिन दूतावास परिसर की सुरक्षा करने वाले पुलिसकर्मियों को करीब 17 दिन पूर्व दूतावास के बाहर पहली मंजिल से गिरे एक शख्स का शव मिला।

जर्मनी की न्यूज वेबसाइट डेर स्पीगल ने बताया, बर्लिन दूतावास परिसर की सुरक्षा करने वाले पुलिसकर्मियों को करीब 17 दिन पूर्व दूतावास के बाहर पहली मंजिल से गिरे एक शख्स का शव मिला।

रूसी दूतावास ने मृतक का नाम बताए बिना घटना पर दुख जताया
इसकी मौत का कारण स्पष्ट नहीं है लेकिन रूसी दूतावास ने इस राजनयिक का नाम बताए बिना इसे एक दुखद घटना बताया है। जर्मनी के विदेश मंत्रालय ने भी इसकी मौत की पुष्टि की, लेकिन ज्यादा जानकारी नहीं दी। बर्लिन पुलिस ने अब तक इस घटना पर सार्वजनिक बयान नहीं दिया लेकिन इससे जुड़ी पहली खबर शनिवार (भारतीय समयानुसार) को ही सामने आई है। खबरों के मुताबिक, यह 35 वर्षीय मृतक एक रूसी राजनयिक था और रूसी दूतावास में द्वितीय सचिव के पद पर कार्यरत था। हालांकि, कुछ खबरों में मृतक के एक रूसी जासूस होने की आशंका भी जताई जा रही है।
डेर स्पीगल के मुताबिक, जर्मनी की सुरक्षा सेवा मानती है कि रूसी दूतावास के बाहर सड़क पर मृत पाया गया शख्स रूस की खुफिया एजेंसी एफएसबी इंटेलिजेंस सर्विस का अंडर कवर एजेंट था। इसके साथ ही इंवेस्टिगेटिव वेबसाइट बेलिंगकैट ने बताया है कि वह ओपन सोर्स डाटा की मदद से इस नतीजे पर पहुंची है कि मरने वाला शख्स रूसी खुफिया एजेंसी एफएसबी के उप-निदेशक का बेटा था। यह शव 19 अक्तूबर को मिला था। जानिए दुनिया की अन्य महत्वपूर्ण खबरें...
चीन ने तीन नए दूरसंवेदी उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया
चीन ने देश के दक्षिण पश्चिमी सिचुआन प्रांत के शिचांग उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से तीन नए दूरसंवेदी उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया है। ये उपग्रह 'याओगान-35 श्रेणी' के हैं और इन्हें 'लॉन्ग मार्च-2डी' कैरियर रॉकेट के माध्यम से प्रक्षेपित किया गया, जो निर्धारित कक्षाओं में सफलतापूर्वक प्रवेश कर गए। यह 'लॉन्ग मार्च श्रेणी के कैरियर रॉकेट का 396वां अभियान था।
इससे पहले मार्च 2019 में चीन के 'लॉन्ग मार्च-3बी रॉकेट' ने नए दूरसंचार उपग्रह को कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कराकर अपना 300वां प्रक्षेपण पूरा किया था। 'लॉन्ग मार्च' श्रेणी के जरिये देश के करीब 96.4 प्रतिशत प्रक्षेपण किए गए हैं।
इराक : शिया समर्थकों व पुलिस में झड़प, एक की मौत
इराक राजधानी के 'ग्रीन जोन' क्षेत्र के बाहर डेरा डाले ईरान समर्थक शिया लड़ाकों के समर्थकों और दंगा विरोधी पुलिस के बीच हुई हिंसक झड़प में एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई और कई घायल हो गए। घायलों में ज्यादातर इराकी सुरक्षा बलों के सदस्य हैं। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि झड़प किन वजहों से हुई है।
प्रदर्शनकारियों ने पिछले महीने के संसदीय चुनावों के परिणामों में मिली हार को खारिज कर दिया। चुनाव में ईरान समर्थक लड़ाकों को सबसे बड़ी हार का मुंह देखना पड़ा था। ये प्रदर्शनकारी गत तीन सप्ताह से अधिक समय से 'ग्रीन जोन' क्षेत्र के बाहर डेरा डाले हुए हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta