विश्व

तानाशाह ने बजाई ताली: उत्तर कोरिया के सैनिकों ने सिर से तोड़ी ईंट-बोतल

Gulabi
13 Oct 2021 4:35 PM GMT
तानाशाह ने बजाई ताली: उत्तर कोरिया के सैनिकों ने सिर से तोड़ी ईंट-बोतल
x
तानाशाह ने बजाई ताली

North Korea Soldiers Performance: उत्तर कोरिया में भुखमरी के हालातों के बीच सैनिकों ने एक खतरनाक प्रदर्शन किया है. जिसमें सैनिक बिना वर्दी के ईंट और कांच की बोतलें तोड़ते दिख रहे हैं. इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें तानाशाह किम जोंग (Kim Jong un) उन खुशी से ताली बजाते देखे गए. वीडियो में देखा जा सकता है कि उत्तर कोरिया के सैनिक सिर से ईंट तोड़ रहे हैं. एक सैनिक हाथों से दो बोतल तोड़कर जमीन पर पड़े कांच पर ही लेट जाता है. जबकि कुछ सैनिक गर्दन से छड़ें मोड़ते दिखते हैं.


उत्तर कोरिया में एक रक्षा प्रदर्शनी के बीच सैनिक इस तरह का प्रदर्शन करते दिखे. इसका उद्देश्य देश की सैन्य ताकत और उन हथियारों को दिखाना था, जिनके जरिए परमाणु हमले करने का दावा किया जाता है. वीडियो में देखा जा सकता है कि उत्तर कोरिया के सैनिक कांच के टुकड़ों और लोहे की कीलों पर लेट रहे हैं. उनके शरीर पर सीमेंट की बनी स्लैब रखकर उसे हथौड़े से तोड़ा जाता है (North Korea Soldiers Martial Arts). फिर सैनिक अपने चारों ओर लिपटी जंजीरों को भी तोड़ते हैं. इस कार्यक्रम का मकसद दुश्मनों को ये दिखाना है कि देश सैन्य तौर पर कितना मजबूत हो गया है.

मिसाइल लॉन्च कर तनाव बढ़ाया
उत्तर कोरिया ने हाल ही में समुद्र और ट्रेन से मिसाइल लॉन्च की थीं. जिसके बाद से क्षेत्र में काफी तनाव बढ़ गया है. मिसाइल परीक्षण के बाद पहली बार किम जोंग उन ने रक्षा प्रदर्शनी में भाषण दिया और अमेरिका पर निशाना साधते हुए उसे सभी समस्याओं की जड़ बताया (North Korea Army Weapons). इसके साथ ही उन्होंने अमेरिका पर खतरा बढ़ाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, 'मैं ये जानना चाहता हूं कि क्या ऐसे लोग या देश हैं, जो खुद ये मानते हैं कि वो जो काम कर रहे हैं, उनसे उनका शत्रुता रखने जैसा कोई इरादा नहीं है.' उन्होंने ये बात राष्ट्रपति जो बाइडेन के उस बयान के संदर्भ में कही, जिसमें बाइडेन ने कहा था कि अमेरिका का उत्तर कोरिया से दुश्मनी का कोई इरादा नहीं है.


अमेरिका से किस बात की दुश्मनी?
उत्तर कोरिया की अमेरिका से दुश्मनी के पीछे कई कारण हैं. इस देश के परमाणु कार्यक्रम के कारण अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र ने इसपर प्रतिबंध लगाए हुए हैं, जिसके कारण यहां की अर्थव्यवस्था गर्त में चली गई है. 2018 में पहली बार अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किम जोंग उन से मुलाकात की थी. तब ये शर्त रखी गई कि प्रतिबंध हटाने के बदले में उत्तर कोरिया परमाणु कार्यक्रम खत्म कर देगा (Kim Jong-un Viral Video). लेकिन हनोई में दूसरी वार्ता होने के बाद से बातचीत अधर में लटकी हुई है. इसके अलावा उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच कट्टर दुश्मनी है. अमेरिका ने सियोल (दक्षिण कोरिया) में अपने 2800 सैनिकों को तैनात किया हुआ है, ताकि खतरे के समय उसे उत्तर कोरिया के हमलों से बचाया जा सके. इससे भी उत्तर कोरिया काफी खफा है.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it