विश्व

दुनियाभर में हो रहे प्रदर्शन, जला रहे इजरायल के झंडे

Chandravati Verma
16 May 2021 1:51 PM GMT
दुनियाभर में हो रहे प्रदर्शन, जला रहे इजरायल के झंडे
x
यूरोपीय देशों में सड़कों पर निकले लोग

अमेरिका (America) में फलस्तीन समर्थकों ने गाजा पट्टी (Gaza Strip) पर इजराइली हवाई हमले खत्म करने की मांग करते हुए लॉस एंजिलिस, बोस्टन, फिलाडेल्फिया और अन्य अमेरिकी शहरों में प्रदर्शन किए. हजारों लोगों ने लॉस एंजिलिस (Los Angeles) में संघीय इमारत से लेकर इजराइली वाणिज्यदूतावास तक शनिवार को रैली निकाली. उन्होंने 'फलस्तीन को आजाद करो' और 'इंतिफादा (विद्रोह) कायम रहे' के पोस्टर पकड़ रखे थे.

सैन फ्रांसिस्को में प्रदर्शनकारियों ने ड्रम बजाकर और 'फलस्तीन आजाद होगा' के नारे लगाकर प्रदर्शन किए और रैली निकाली. इसके अलावा बोस्टन, वॉशिंगटन, फिलाडेल्फिया और पिट्सबर्ग समेत कई शहरों में प्रदर्शन हुए. बता दें कि इस हिंसा में गाजा में कम से कम 145 फलस्तीनियों की मौत हो गई है. इजराइल में आठ लोगों की मौत हो गई है.
यूरोपीय देशों में सड़कों पर निकले लोग
दूसरी ओर हजारों प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को लंदन, बर्लिन, मैड्रिड और पेरिस सहित प्रमुख यूरोपीय शहरों में भी फलस्तीनियों के समर्थन में मार्च किया. लंदन में 'Stop Bombing Gaza'और 'Free Palestine' का नारा लगाते हुए कई हजार प्रदर्शनकारियों ने इजरायली दूतावास की ओर मार्च किया और ब्रिटेन की राजधानी के हाइड पार्क के पास मार्बल पार्क पर इकट्ठा हुए.
केंसिंग्टन हाई स्ट्रीट, जहां दूतावास स्थित है, के चारों ओर भीड़ नजर आई. आयोजकों ने दावा किया कि लंदन मार्च के लिए 150,000 लोग इकट्ठा हुए थे. हालांकि लंदन पुलिस ने कहा कि वो किसी भी आंकड़े की पुष्टि नहीं कर सकते. जर्मनी में बर्लिन के अलावा भी कई जगह प्रदर्शन देखने को मिले. फ्रैंकफर्ट, लीपज़िग और हैम्बर्ग में भी विरोध प्रदर्शन हुए. मंगलवार को बॉन और मुएनस्टर में इजरायल के झंडे जलाए गए थे.
पुलिस ने छोड़ी आंसू गैस और पानी की बौछार
पेरिस में पुलिस अधिकारियों ने प्रतिबंध के बावजूद वहां आयोजित फलस्तीन समर्थक रैली को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस और पानी की बौछार का इस्तेमाल किया. ग्रीस में, पुलिस ने कहा कि एथेंस में अमेरिकी दूतावास पर लगभग एक हजार लोगों ने मार्च किया. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि पुलिस ने पानी की बौछार का इस्तेमाल किया और दूतावास के सामने प्रदर्शनकारियों के साथ मामूली हाथापाई भी हुई.
रोम में, लगभग सौ लोग फलस्तीनी झंडों के साथ सांता मारिया मैगीगोर बेसिलिका के पास इकट्ठा हुए और नारे लगाने लगे. प्रदर्शन के दौरान एक प्लेकार्ड पर लिखा हुआ था, 'फलस्तीनियों का समर्थन करने के लिए मुस्लिम होने की जरूरत नहीं है इसके लिए आपको सिर्फ एक इंसान होना चाहिए.' इसके अलावा ट्यूनीशिया के कई शहरों में भी प्रदर्शन देखने को मिले. इसी बीच मैड्रिड में करीब 2,500 लोग फलस्तीनी झंडों के साथ शहर के केंद्र में इकट्ठा हुए. उन्होंने कहा, 'यह कोई युद्ध नहीं, नरसंहार है.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta