विश्व

दुनिया के कई देशों तेजी से बढ़ रहा कोरोना, कहीं स्कूल बंद तो कहीं लोगों को घरों में किया कैद

Subhi
19 March 2022 12:53 AM GMT
दुनिया के कई देशों तेजी से बढ़ रहा कोरोना, कहीं स्कूल बंद तो कहीं लोगों को घरों में किया कैद
x
अगर आपको लगता है कि कोरोना वायरस महामारी खत्म हो गई तो आप गलत हैं। दुनियाभर में फैली कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। कुछ देशों में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लगाना पड़ा है।

अगर आपको लगता है कि कोरोना वायरस महामारी खत्म हो गई तो आप गलत हैं। दुनियाभर में फैली कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। कुछ देशों में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लगाना पड़ा है। थोड़ी राहत के बाद, दुनिया भर के देशों में एक बार फिर से कोविड -19 मामलों में वृद्धि देखी जा रही है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारियों ने कहा कि सात मार्च से 13 मार्च के बीच एक करोड़ से ज्यादा नए संक्रमण दर्ज किए गए है जो कि चिंता का विषय है। ब्रिटेन के लंदन में महामारी जारी है। चीन, हांगकांग, दक्षिण कोरिया आदि देशों में कोरोना के कारण प्रतिबंध लगाए गए हैं। आइए जानते हैं वो कौन से देश में जहां कोरोना मामलों में वृद्धि हुई है।

चीन

इस देश से कोरोना का पहला केस सामने आया था और सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में चीन सबसे आगे जिसके कई शहर अभी कोरोना की चपेट में है। शंघाई चीन का वाणिज्यिक केंद्र है, यहां अब बड़े पैमाने पर परीक्षण किया जा रहा है, ताकि कोविड -19 संक्रमण पर रोक लगाई जा सके। हालांकि कुछ जिले व्यवधानों को कम करने के प्रयास में लॉकडाउन नियमों में ढील दे रहे थे।

शंघाई, जो अब तक कोरोनोवायरस से अपेक्षाकृत अप्रभावित रहा है, यहां स्कूलों को बंद कर दिया है और एक शहर-व्यापी परीक्षण कार्यक्रम शुरू किया है और लोगों को घरों में कम से कम 48 घंटों के लिए बंद कर दिया गया है। 2020 में वुहान में पहली बार वायरस के सामने आने के बाद से चीन अपने सबसे खराब कोविड प्रकोप से जूझ रहा है।

दक्षिण कोरिया

राजाधानी सियोल में कोरोना से दैनिक मरने वालों की संख्या रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने 621,000 से अधिक नए संक्रमणों की सूचना दी, इसी के साथ ओमिक्रॉन के बढ़ते मामले भी चिंता का विषय हैं। वहीं दक्षिण कोरिया में कोरोना मामलों के इतनी तेजी से बढ़ने से अस्पताल में भारी जोर पड़ने के आसार है और एक संकट खड़ा हो सकता है। यहां स्कूल कॉलजों को बंद करने की भी सलाह दी गई है।

हांगकांग

हांगकांग में शुक्रवार को लगभग 20,000 नए कोरोनोवायरस के मामले दर्ज किए गए। वहीं यहां के विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि अभी और कोरोना के मामले दर्ज किए जाएंगे। हाल के हफ्तों में घनी आबादी वाले हांगकांग ने वैश्विक स्तर पर प्रति दस लाख लोगों पर सबसे अधिक मौतें दर्ज की हैं। हांगकांग लौटने वाले निवासियों के लिए 14 दिनों तक आइसोलेश में रहना अनिवार्य है और स्कूलों, जिम, समुद्र तटों और अन्य स्थानों को बंद करने के आदेश हो गए हैं। इन प्रतिबंधों ने कई लोगों को निराश किया है।

इटली

राजधानी रोम में गुरुवार को कोरोना के 79,895 मामले दर्ज किए गए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि शुक्रवार को 72,568 मामले दर्ज किए और इनमें 128 मौतें भी दर्ज की गई। इटली ने कोरोना से जुड़ी 157,442 मौतें दर्ज की हैं। 2020 में ब्रिटेन के बाद यूरोप में दूसरा सबसे ज्यादा कोरोना से प्रभावित अगर कोई देश रहा तो वह इटली है। यहां प्रतिदिन दस लाख तक केस आए थे। यहां अस्पतालों में पड़ी लाशों के मंजर से दुनिया भार को परेशान करके रख दिया था। इटली में अब तक 13.65 मिलियन कोरोना मामले सामने आए हैं।

जर्मनी

दुनिया में चिकित्सा क्षेत्र में जर्मनी का बड़ा नाम है। जर्मनी की रोग नियंत्रण एजेंसी ने पिछले 24 घंटों में 294,931 नए मामले दर्ज किए हैं। रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट ने कहा कि 278 और कोविड से संबंधित मौतें हुई हैं, जो महामारी की शुरुआत के बाद से कुल मिलाकर 126,420 हो गई हैं। देश कोरोना के नए पुष्ट मामलों में नया रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया है। यहां लोगों को मास्क पहनने और स्टेडियमों में दर्शकों को सीमित करने की भी सलाह दी है। वहीं जर्मनी में कोरोना वायरस हॉटस्पॉट में प्रतिबंध लगाया जा रहा है ताकि कोरोना को आगे बढ़ने से रोका जा सके।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta