विश्व

कोरोना संक्रमित लोग इन बातों का रखें ध्यान

Janta Se Rishta Admin
11 May 2021 9:47 AM GMT
कोरोना संक्रमित लोग इन बातों का रखें ध्यान
x
अस्पताल में भर्ती हुए कोविड मरीज अक्सर दिल की बीमारियों को नजरअंदाज कर देते हैं


जनता से रिश्ता वेबडेस्क | अस्पताल में भर्ती हुए कोविड मरीज अक्सर दिल की बीमारियों को नजरअंदाज कर देते हैं. एक ताजा रिसर्च से पता चला है कि दिल की बीमारी का इलाज नहीं होने से कोविड रोगियों के मरने की संभावना लगभग पांच गुना अधिक हो जाती है.
लंदन में सेंट थॉमस अस्पताल में कार्डियोवस्कुलर क्लिनिकल फामार्कोलॉजी के प्रोफेसर फिल चिवेंस्की ने कहा है, परंपरागत रूप से हृदय का कार्य इजेक्शन अंश द्वारा मापा जाता है, या हृदय के प्रत्येक संकुचन के साथ बाएं वेंट्रिकल पंप से कितना रक्त निकलता है. इस रिसर्च के नतीजे पत्रिका हाइपरटेंशन में प्रकाशित हुए हैं. नड्डा का सोनिया को पत्र- लोगों को गुमराह और भय पैदा कर रही कांग्रेस

कार्डियोवस्कुलर रिस्क फैक्टर और बीमारी को कोविड जोखिम कारकों के रूप में मान्यता दी गई है. कोरोना ने मां और बहन को छीना, गमगीन ने कही यह बात

इस मामले में रिसर्च करने वाली टीम ने चीन के वुहान में 129 हॉस्पिटलाइज्ड। , और दक्षिण लंदन में 251 हॉस्पिटलाइज्ड कोविड रोगियों के लिए फरवरी और मई 2020 के बीच मृत्यु दर का विश्लेषण किया.

प्रोफेसर फिल चिवेंस्की ने कहा, निष्कर्ष बताते हैं कि अगर हम पहले चरण के इजेक्शन अंश इमेजिंग का उपयोग करके पता लगाए गए हृदय को होने वाली बहुत पुरानी क्षति को रोक सकते हैं, तो लोगों को कोविड जैसे श्वसन संक्रमण से बचने की अधिक संभावना होगी. इसके अलावा स्वस्थ जीवनशैली, बेहतर उपचार, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल के उपचार भी महत्वपूर्ण हो जाते हैं."


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta