विश्व

ब्रिटिश विशेषज्ञों ने बोत्सवाना में मिले नए वैरिएंट को लेकर जारी की चेतावनी

Gulabi
25 Nov 2021 12:59 PM GMT
ब्रिटिश विशेषज्ञों ने बोत्सवाना में मिले नए वैरिएंट को लेकर जारी की चेतावनी
x
दक्षिण अफ्रीकी वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के एक नए वैरिएंट का पता लगाया है
दक्षिण अफ्रीकी वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के एक नए वैरिएंट का पता लगाया है। नेशनल इंस्टीट्यूट फार कम्युनिकेबल डिजीज (National Institute for Communicable Diseases, NICD) ने गुरुवार को बताया कि वैज्ञानिक दक्षिण अफ्रीका में पाए गए इस नए कोरोना वैरिएंट के संभावित प्रभावों को समझने के लिए काम कर रहे हैं। एनआईसीडी ने कहा कि जीनोमिक सीक्वेंसिंग के बाद वेरिएंट बी 1.1.529 के 22 मामले दर्ज किए गए हैं।
समाचार एजेंसी रायटर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि फि‍लहाल सीमित आंकड़े मिले हैं। विशेषज्ञ नए वैरिएंट को समझने के लिए सभी स्थापित निगरानी प्रणालियों के साथ काम कर रहे हैं। इससे पहले भी दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के वैरिएंट पाए जा चुके हैं। पिछले साल दक्षिण अफ्रीका में सबसे पहले कोरोना के बीटा वैरिएंट का पता चला था। कोरोना का बीटा वैरिएंट विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization, WHO) की ओर से लेबल आफ कंसर्न में शामिल किया जा चुका है।
लेबल आफ कंसर्न (Labelled of Concern) में शामिल किए जाने का मतलब है कि वायरस के वैरिएंट के अत्‍यधिक संक्रामक होने के प्रमाण हैं। यही नहीं ऐसे वैरिएंट के खिलाफ टीके भी अच्छी तरह से काम नहीं करते हैं। यही नहीं इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में एक और वैरिएंट सी.1.2 का पता लगाया गया था। हालांकि इस वैरिएंट की संक्रामकता खतरनाक माने जा रहे डेल्टा वैरिएंट से कम है।
वहीं दूसरी ओर ब्रिटिश विशेषज्ञों ने एक नए कोविड वेरिएंट बोत्सवाना को लेकर चेतावनी जारी की है। कोरोना के बोत्सवाना वैरिएंट को अभी तक वायरस का सबसे म्यूटेंटड वर्जन बताया जा रहा है। डेली मेल की रिपोर्ट के हवाले से समाचार एजेंसी आइएएनएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अब तक इस नए स्ट्रेन के केवल 10 मामलों का पता चला है। इसको एनयू वैरिएंट नाम दिया गया है। इससे पहले इसे तीन देशों में देखा जा चुका है। आशंका है कि यह वैरिएंट ज्‍यादा संक्रामक है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it