Top
विश्व

AstraZeneca टीके ब्लड क्लॉटिंग को लेकर ब्रिटेन सतर्क, 30 साल से कम लोगो को नहीं लगेगी वैक्सीन

Neha
8 April 2021 2:40 AM GMT
AstraZeneca टीके ब्लड क्लॉटिंग को लेकर ब्रिटेन सतर्क, 30 साल से कम लोगो को नहीं लगेगी वैक्सीन
x
असामान्य क्लॉटिंग बनने के कथित मामलों को वैक्सीन के संभावित दुष्प्रभावों के रूप में रखा जाना चाहिए.

ब्रिटेन (Britan) के औषधि नियामक ने कहा है कि कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ एस्ट्राजेनेका वैक्सीन (AstraZeneca Vaccine) के व्यापक लाभ हैं. लेकिन ब्लड क्लॉटिंग (Blood Clotting) बनने के दुर्लभ मामलों के चलते 30 साल से कम उम्र के लोगों को दूसरी वैक्सीन की पेशकश की जाएगी. नियामक संस्था ने अपनी जांच में पाया है कि मार्च के आखिर तक ब्रिटेन में जिन लोगों को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन दी गई थी. उसमें से 79 लोगों ब्लड क्लॉटिंग के मामले देखने को मिले. इसमें से 19 लोगों की मौत हो गई.

देश की 'मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी' (एमएचआरए) ने बुधवार को कहा कि जब तक वह एस्ट्राजेनेका वैक्सीन और ब्लड क्लॉटिंग के बीच संबंध का अध्ययन कर रही है, तब तक संबंधित आयु समूह के लोगों को फाइजर (Pfizer Vaccine) और मॉडर्ना कंपनी की वैक्सीन (Moderna vaccine) लगाए जाने चाहिए. एमएचआरए के प्रमुख, डॉक्टर जून रैने ने कहा कि जोखिम के मुकाबले अधिकतर लोगों में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के लाभ अधिक हैं.
जोखिम की तुलना में वैक्सीन का लाभ अधिक
यूरोपीय संघ के औषधि नियामक द्वारा यह कहे जाने के तुरंत बाद इस फैसले की घोषणा की गई कि उसने एस्ट्राजेनेका वैक्सीन और ब्ल्ड क्लॉटिंग के बीच संभावित संपर्क का पता लगा लिया है. हालांकि, इसने यह भी कहा है कि जोखिमों की तुलना में इस वैक्सीन से लोगों को लाभ अधिक है. यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी (EMA) ने एक बयान में 18 साल या इससे अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने को लेकर किसी नए प्रतिबंध का ऐलान नहीं किया.
अभी EMA के नतीजों की हो रही समीक्षा
एम्सटर्डम आधारित एजेंसी के स्वास्थ्य जोखिम एवं वैक्सीन रणनीति के प्रमुख मार्को कैवलेरी ने कहा, यह कहना बहुत मुश्किल होता जा रहा है कि एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन और प्लेटलेट कम होने से जुड़े ब्लड के अत्यंत दुर्लभ क्लॉटिंग के बीच कोई कारणात्मक संपर्क नहीं है. एजेंसी ने कहा कि उसका मूल्यांकन अभी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा है और वर्तमान में समीक्षा जारी है. .EMA के कार्यकारी निदेशक एमेर कुक ने कहा, एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन लगाए जाने के बाद ब्लड के असामान्य क्लॉटिंग बनने के कथित मामलों को वैक्सीन के संभावित दुष्प्रभावों के रूप में रखा जाना चाहिए.





Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it