विश्व

पाकिस्तान में सियासी संग्राम के बीच, इमरान खान की जान को खतरा पीटीआई के वरिष्ठ नेता फैसल वावदा का दावा

Renuka Sahu
31 March 2022 12:53 AM GMT
पाकिस्तान में सियासी संग्राम के बीच, इमरान खान की जान को खतरा पीटीआई के वरिष्ठ नेता फैसल वावदा का दावा
x

फाइल फोटो 

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के वरिष्ठ नेता फैसल वावदा ने स्थानीय मीडिया से बात करते हुए दावा किया कि प्रधानमंत्री इमरान खान की जान खतरे में है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के वरिष्ठ नेता फैसल वावदा ने स्थानीय मीडिया से बात करते हुए दावा किया कि प्रधानमंत्री इमरान खान की जान खतरे में है। उन्होंने कहा की पीएम की हत्या की साजिश रची जा रही है।

बुलेटप्रूफ शील्ड का इस्तेमाल करने की सलाह
पाकिस्तानी न्यूज चैनल के एक कार्यक्रम पर बोलते हुए, फैसल वावदा ने कहा कि खतरे की आशंका के चलते पीएम को रैलियों के दौरान बुलेटप्रूफ शील्ड का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है। लेकिन पीएम ने सभी खतरों को दरकिनार करते हुए कहा है कि अल्लाह ने जब उनकी मौत तय की होगी तब हो इस दुनिया से जाएंगे।
किसी भी विवाद से पाकिस्तान का किनारा
मौजूदा वक्त में पाकिस्तान में चल रहे सियासी संग्राम के बीच वावदा ने कहा है कि पीएम इस स्थिती का बहादुरी से सामना कर रहे हैं। वो देश को किसी के आगे भी झुकने नहीं देंगे। विदेश नीति पर इमरान खान के रुख पर सफाई देते हुए वावदा ने कहा कि अब पाकिस्तान किसी के युद्ध का हिस्सा नहीं बनेगा। देश का एयरबेस हमारे पड़ोसी देशों पर हमला करने के लिए किसी को भी नहीं दिया जाएगा। गौरतलब है कि इमरान खान की नीतियों के चलते बड़ी तादाद में सत्तारूढ़ पार्टी के नेता असंतुष्ट हैं। इस बीच, आमिर लियाकत हुसैन सहित कुल 22 असंतुष्ट पीटीआई नेताओं ने इस्लामाबाद के सिंध हाउस में विपक्षी गठबंधन के सत्र में हिस्सा लिया।
सरकार के खिलाफ साजिश के आरोप
इससे पहले बुधवार को दिन में इमरान खान ने कहा था कि वो विदेशी वित्त पोषित साजिश पत्र को वरिष्ठ पत्रकारों और सहयोगी पार्टी के सदस्यों के साथ साझा करेंगे। इस्लामाबाद में ई-पासपोर्ट सेवाओं की शुरुआत के मौके पर उन्होंने कहा, पत्र उन तत्वों का खुलासा करेगा जो विदेशों से देश के खिलाफ साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "संदेह लगाया गया था कि सरकार खुद को बचाने के लिए यह सब कर रही है।" पत्र स्पष्ट रूप से दिखाता है कि सरकार के खिलाफ कितनी बड़ी साजिश है और जो मैं आपको बता रहा हूं उससे कहीं बड़ी साजिश है।"
अल्पमत में है इमरान खान सरकार
इमरान खान की सरकार के खिलाफ नेशनल असेंबली में अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया था। जिसमें कुल 161 वोट सरकार के पक्ष में पड़े थे। जिसके बाद सदन की कार्यवाही को 31 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया था। विपक्षी दलों द्वारा आठ मार्च को अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया था। विपक्ष को विश्वास है कि उसका प्रस्ताव पारित किया जाएगा क्योंकि पीटीआई के कुछ सहयोगी इमरान खान के खिलाफ खुलकर सामने आए हैं।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta