विश्व

एक ऐसा STAR जिसे सबसे छोटा और बड़ा दोनों कहा जा रहा है, जानें डेड स्टार के बारे में

Gulabi
2 July 2021 11:53 AM GMT
एक ऐसा STAR जिसे सबसे छोटा और बड़ा दोनों कहा जा रहा है, जानें डेड स्टार के बारे में
x
क्या आपने कभी किसी ऐसे सितारे के बारे में सुना है

Smallest Massive White Dwarf Dead Star: क्या आपने कभी किसी ऐसे सितारे के बारे में सुना है, जिसे एक ही समय में बेहद बड़ा और सबसे छोटा दोनों कहा जा रहा हो? लेकिन ऐसा सितारा सच में ढूंढा गया है. वैज्ञानिकों ने एक मृत सितारे का पता लगाया है, जो आकार में चंद्रमा के बराबर है लेकिन उसका द्रव्यमान सूर्य से बड़ा है. इस मृत सितारे (व्हाइट ड्वार्फ) का नाम ZTF J1901+1458 है. जो सिर्फ 4,280 किलोमीटर (2,660 मील) की दूरी पर स्थित है, लेकिन सूर्य के द्रव्यमान का 1.35 गुना है.

यह एक सफेद रंग का मृत सितारा है, जिसका मतलब होता है कि इसका अस्तित्व अब खत्म हो चुका है. वियॉन की एक रिपोर्ट के अनुसार, सितारा हमसे 130 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है. सितारा अधिक सघन है, जो चंद्रशेखर सीमा (Chandrasekhar Limit) के काफी करीब है. चंद्रशेखर सीमा की बात करें तो यह उस अधिकतम द्रव्यमान को संदर्भित करती है, जो एक सफेद बौने सितारे के अस्थिर होने से पहले हो सकता है. इसके बाद जो विस्फोट होता है, उससे सितारे की मौत हो जाती है.
100 मिलियन साल का है सितारा
ये सफेद सितारा 100 मिलियन साल पुराना है. वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार, इस सफेद सितारे पर एक मजबूत चुंबकीय प्रभाव है. उसका ये चुंबकीय क्षेत्र सूर्य से कई अरब गुना मजबूत भी है (Small Massive Dead Star). शोधकर्ताओं की टीम ने अध्ययन के दौरान जो भी खोज की हैं, उसे साइंस जरनल नेचर में प्रकाशित किया गया है. इससे पहले भी वैज्ञानिक मृत सितारों को लेकर कई तरह की खोज कर चुके हैं.
ग्रहों को भी नष्ट कर सकता है सितारा
वहीं मृत सितारे की बात करें तो कोई तारा अपनी उम्र पूरी होने के बाद सौर मंडल के अन्य बचे ग्रहों को भी नष्ट कर देता है. यह अवधारणा बीते कई साल से स्थापित है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा से जुड़े वैज्ञानिकों को इसका समर्थन करने वाले कई महत्वपूर्ण प्रमाण भी मिल चुके हैं. वैज्ञानिकों ने अपने के2 मिशन के दौरान भी एक सफेद बौने सितारे के पास छोटे पिंड को टूटते हुए देखा था (Extreme Greater Mass White Dwarf). वैज्ञानिक लंबे समय ये इस बात को मानते हैं कि सफेद बौने सितारों में इतनी क्षमता होती है कि वह अपने सौरमंडल के बाकी बचे ग्रहों को भी नष्ट कर सकते हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta