Top
प्रौद्योगिकी

बस एक मिस्ड कॉल से आपकी हो सकती है जासूसी, फोन हो जाएगा हैक

Admin1
22 July 2021 5:54 AM GMT
बस एक मिस्ड कॉल से आपकी हो सकती है जासूसी, फोन हो जाएगा हैक
x

Pegasus फिर से चर्चा में लौट आया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार Pegasus की मदद से कई लोगों की जासूसी की जा रही है. Pegasus काफी एडवांस और पावरफुल सॉफ्टवेयर है. इसके अलावा भी कई ऐसे स्पाई सॉफ्टवेयर जिससे लोगों को टारगेट किया जा सकता है.

रिसर्चर के अनुसार ज्यादातर स्पाई सॉफ्टवेयर से रिमोटली ही आपके फोन का एक्सेस लिया जा सकता है. ये आपके होम स्क्रीन पर नहीं दिखाई देगा. यहां आपको कुछ तरीके बता रहे हैं जिससे ये लोगों के फोन को टारगेट करता है.
मिस्ड कॉल के जरिए Pegasus टारगेट को निशाना बनाता है. साल 2019 में फेसबुक स्वामित्व वाले वॉट्सऐप में एक वल्नरेबिलिटी देखा गया था. इसकी मदद से ये स्पाईवेयर एंड्रॉयड या आईओएस फोन में सिर्फ टारगेट को कॉल करके हैक कर सकता है.
साइबर क्रिमिनल्स और हैकर्स के लिए ये काफी कॉमन मैथेड है. इसके जरिए वो आपके फोन को टारगेट करते हैं. यूजर्स को मैलेशियस ऐप स्पाईवेयर या दूसरे मैलवेयर के साथ डाउनलोड करवा दिया जाता है. इसमें से ज्यादातर ऐप्स थर्ड पार्टी ऐप स्टोर्स, सोशल मीडिया वेबसाइट या दूसरे लिंक्स में पाए जाते हैं.
वॉट्सऐप, ईमेल्स और SMS के जरिए हैकर्स मैसेज करके यूजर्स को लिंक सेंड करते हैं. यूजर जब इस लिंक पर क्लिक करते हैं तो उनके फोन में वायरस या सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल कर दिया जाता है. ये यूजर्स के पर्सनल डेटा को चुराने के साथ ही डिवाइस पर भी कंट्रोल कर लेता है.
SIM कार्ड स्वैप हैकर्स तब यूज करते हैं जब वो आपकी पर्सनल जानकारी को एक्सेस कर लेते हैं. इसके बाद हैकर्स आपके टेलीकॉम ऑपरेटर को कॉन्टैक्ट करके सिम रिप्लेसमेंट की डिमांड करता है. नया सिम जारी होने के बाद पुराना सिम डिएक्टिवेट हो जाता है. इसका मतलब हैकर्स के पास आपके नंबर का पूरा एक्सेस हो जाता है.
इसकी मदद से हैकर्स पास के डिवाइस को ब्लूटूथ की मदद से हैक करते हैं. इसके लिए वो स्पेशलाइज्ड सॉफ्टवेयर का यूज करते हैं. ये हैकिंग ज्यादातर पब्लिक प्लेस में होता है. इसी तरह पब्लिक Wi-Fi करने पर भी यूजर को टारगेट किया जाता है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it