खेल

WTC फाइनल को लेकर युवराज सिंह ने कही ये बात

Bharti sahu
6 Jun 2021 1:31 PM GMT
WTC फाइनल को लेकर युवराज सिंह ने कही ये बात
x
भारत के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह का मानना है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल तीन मैचों का मुकाबला होना चाहिए था

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | भारत के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह का मानना है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल तीन मैचों का मुकाबला होना चाहिए था क्योंकि मौजूदा कार्यक्रम के कारण विराट कोहली की टीम थोड़े नुकसान की स्थिति में है। गुरुवार को इंग्लैंड पहुंचने वाली भारतीय टीम 18 जून से साउथम्पटन में होने वाले टेस्ट में सीमित तैयारी के साथ उतरेगी जबकि न्यूजीलैंड की टीम मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रही है।

युवराज ने 'स्पोर्ट्स तक' से कहा, ''मेरा मानना है कि इस तरह की स्थिति में बेस्ट आफ थ्री टेस्ट की श्रृंखला होनी चाहिए क्योंकि अगर आप पहला मैच गंवा दो तो अगले दो मैचों में वापसी कर सकते हो। भारत थोड़े नुकसान की स्थिति में है क्योंकि न्यूजीलैंड की टीम पहले ही इंग्लैंड में टेस्ट मैच खेल रही है।''
उन्होंने कहा, ''आठ से 10 अभ्यास सत्र मिलेंगे लेकिन मैच अभ्यास की भरपाई किसी चीज से नहीं हो सकती। यह बराबरी का मुकाबला होगा लेकिन न्यूजीलैंड की टीम थोड़े फायदे की स्थिति में रहेगी।'' युवराज सिंह ने कहा कि भारत का बल्लेबाजी क्रम केन विलियमसन की अगुआई वाली न्यूजीलैंड की टीम की तुलना में मजबूत है।

उन्होंने कहा, ''मेरा मानना है कि भारतीय टीम मजबूत है क्योंकि पिछले कुछ समय में हमने देश के बाहर जीत दर्ज की है। मुझे लगता है कि हमारी बल्लेबाजी मजबूत है और गेंदबाजी में हम उनके बराबर हैं।'' विश्व कप 2011 में भारत की खिताब जीत में अहम भूमिका निभाने वाले युवराज ने कहा कि इंग्लैंड में पहली बार सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभा रहे रोहित शर्मा और शुभमन गिल को जल्द से जल्द ड्यूक्स गेंदों का आदी होना होगा।
युवराज ने कहा, ''रोहित शर्मा अब टेस्ट मैचों में काफी अनुभवी है। उसके नाम सात शतक हैं और इनमें से चार उसने सलामी बल्लेबाज के रूप में बनाए हैं। लेकिन रोहित और शुभमन गिल दोनों ने इससे पहले इंग्लैंड में कभी पारी का आगाज नहीं किया है। '' उन्होंने कहा, ''वे चुनाती से वाकिफ हैं, ड्यूक्स गेंद शुरुआत में स्विंग करती है। उन्हें हालात से जल्दी सामंजस्य बैठाना होगा।''

युवराज ने कहा, ''इंग्लैंड में यह महत्वपूर्ण है कि आप एक बार में एक सत्र पर ध्यान दें। सुबह गेंद स्विंग और सीम करती है और दोपहर में आप रन बना सकते हो, चाय के विश्राम के बाद गेंद फिर स्विंग करती है। एक बल्लेबाज के रूप में अगर आप इन चीजों से सामंजस्य बैठा लो तो आप सफल हो सकते हो।''
गिल ने आस्ट्रेलिया में अपनी पहली टेस्ट सीरीज में प्रभावित किया था लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में वह रन बनाने के लिए जूझते दिखे। युवराज चाहते हैं कि गिल आस्ट्रेलिया में अपने प्रदर्शन से आत्मविश्वास लें। उन्होंने कहा, ''शुभमन काफी युवा है, अभी अनुभवहीन है लेकिन आस्ट्रेलिया में सफलता से उसका आत्मविश्वास बढ़ना चाहिए। इसलिए अगर वह आत्मविश्वास के साथ उतरता है तो दुनिया में कहीं भी अच्छा प्रदर्शन कर सकता है।''

युवराज ने लंबे दौरे के दौरान जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में रहने की अतिरिक्त चुनौती पर भी बात की। भारत को इस दौरे पर इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट की श्रृंखला भी खेलनी है जो चार अगस्त से शुरू होगी। उन्होंने कहा, ''अपने देश की ओर से खेलने की शारीरिक और मानसिक चुनौती पहले ही होती है और अब इसमें जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में रहने को भी जोड़ दीजिए। मुझे लगता है कि यह काफी कड़ा है। उम्मीद करता हूं कि जल्द ही खत्म होगा और लोग अपना सामान्य जीवन जी सकेंगे।''


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta