खेल

वर्ल्ड कप जीतने वाले भारतीय क्रिकेटर स्मित पटेल ने छोड़ा देश, अब अमेरिका में अपना क्रिकेट करियर बनाएंगे.

Mohit
31 May 2021 8:19 AM GMT
वर्ल्ड कप जीतने वाले भारतीय क्रिकेटर स्मित पटेल ने छोड़ा देश, अब अमेरिका में अपना क्रिकेट करियर बनाएंगे.
x
इस खिलाड़ी ने बताया कि बीसीसीआई के साथ उनका सारा पेपरवर्क हो चुका है. उन्होंने अपना रिटायरमेंट लेटर भी भेज दिया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। विकेटकीपर बल्लेबाज और 2012 की भारत की अंडर-19 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे स्मि​त पटेल (Smit Patel) ने बीसीसीआई (BCCI) के तहत होने वाले क्रिकेट टूर्नामेंट से संन्यास ले लिया है. वे अब अमेरिका में अपना क्रिकेट करियर बनाएंगे. इसके साथ ही वे अब दूसरे देशों में होने वाली क्रिकेट लीग में भी खेल सकते हैं. इसके तहत स्मित पटेल सबसे पहले आगामी कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में बारबडोस ट्राइडेंट्स की ओर से खेलेंगे. वे अभी अमेरिका में ही है और उन्होंने भारत में क्रिकेट छोड़ने की पुष्टि की है. अभी वे न्यू जर्सी ब्लैककैप्स नाम के क्लब के लिए खेल रहे हैं.

विकेटकीपर और शीर्ष क्रम के बल्लेबाज पटेल आखिरी बार बड़ौदा की तरफ से खेले थे. वह गुजरात और त्रिपुरा का भी प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. उन्होंने 55 प्रथम श्रेणी मैचों में 3000 से अधिक रन बनाये हैं. स्मित पटेल 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में अंडर 19 वर्ल्ड कर जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे. इस टीम में संदीप शर्मा, बाबा अपराजित, हनुमा विहारी भी शामिल थे. स्मित ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से बातचीत में कहा, यह मेरे लिए नई पारी है. अंडर-19 वर्ल्ड कप की ऊंचाइयों के साथ सब शुरू हुआ. फिर विकेटकीपर के रूप में जगह नहीं मिल पाने की निराशा झेली और भारत में ही खेलने के मौके के लिए चार अलग-अलग टीमों गुजरात, त्रिपुरा, गोवा और बड़ौदा गया. यह सब तो होना ही था क्योंकि काफी कड़ा संघर्ष है.
स्मित के पास है अमेरिका का ग्रीन कार्ड
स्मित पटेल ने बताया कि बीसीसीआई के साथ उनका सारा पेपरवर्क हो चुका है. उन्होंने अपना रिटायरमेंट लेटर भी भेज दिया है. ऐसे में उनकी भारत में पारी खत्म हो गई है. स्मित पटेल का परिवार भी अमेरिका में ही रहता है. उनके पिता पेनसिलवेनिया में रहते हैं और गैस स्टेशन चलाते हैं. स्मित भी साल 2010 से ही यहां पर काफी समय गुजार रहे हैं. उनके पास भी ग्रीन कार्ड है. इसका मतलब है कि वे अमेरिका में स्थायी रूप से रह सकते हैं और काम कर सकते हैं. उन्हें अमेरिका की मेजर लीग क्रिकेट से कॉन्ट्रेक्ट भी मिल चुका है.
ऐसा रहा स्मित का करियर
पहले स्मित गुजरात टीम के साथ रहे मगर पार्थिव पटेल की मौजूदगी के चलते टीम में नहीं आ सके. फिर तीन सीजन तक त्रिपुरा में रहे. जब वहां से उन्हें मना कर दिया गया तो वे गोवा चले गए. फिर इसी सीजन में बड़ौदा के साथ आ गए थे. स्मित ने 55 फर्स्ट क्लास मैच खेले और 39.49 की औसत से 3278 रन बनाए. यहां उन्होंने 11 शतक और 14 अर्धशतक लगाए हैं. वहीं 43 लिस्ट ए मैच में उनके नाम 32.47 की औसत से 1234 रन हैं. इस फॉर्मेट में वे दो शतक और आठ अर्धशतक लगा चुके हैं. टी20 क्रिकेट में 28 मैच में उनके नाम 708 रन हैं. स्मित पटेल को अगर अमेरिका की नेशनल टीम के लिए खेलना है तो उन्हें कम से कम तीन साल तक वहीं रहना होगा.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta