खेल

भारतीय टेस्ट टीम की दीवार के नाम से जाना जाने वाले पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ की इस खिलाड़ी ने ली जगह...इंटरनेशनल क्रिकेट में पूरे किए 10 साल...जानें इनके बारे में

Gulabi
9 Oct 2020 1:05 PM GMT
भारतीय टेस्ट टीम की दीवार के नाम से जाना जाने वाले पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ की इस खिलाड़ी ने ली जगह...इंटरनेशनल क्रिकेट में पूरे किए 10 साल...जानें इनके बारे में
x
भारतीय टेस्ट टीम की दीवार के नाम से पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को जाना जाता है
जनता से रिश्ता वेबडेस्क। भारतीय टेस्ट टीम की दीवार के नाम से पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को जाना जाता है, लेकिन ऐसी ही एक और नई दीवार राहुल द्रविड़ के संन्यास के बाद टीम इंडिया को मिल गई है। जी हां, ये नई दीवार कोई और नहीं, बल्कि दाएं हाथ के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा हैं, जिन्होंने शुक्रवार 9 अक्टूबर 2020 को इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना एक दशक पूरा कर लिया है। चेतेश्वर पुजारा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10 साल पूरे होने पर फैंस को शुक्रिया कहा है।

दरअसल, आज ही के दिन यानी 9 अक्टूबर को साल 2010 में चेतेश्वर पुजारा ने अपना पहला इंटरनेशनल मैच खेला था। पुजारा ने 9 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में डेब्यू किया था। इस तरह पुजारा ने अपने इंटरनेशनल करियर में एक दशक पूरा कर लिया है। उस मैच की बात करें तो उन्होंने पहली पारी में सिर्फ 4 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में वे 72 रन बनाकर आउट हुए थे और भारत ने 7 विकेट से मैच जीता

चेतेश्वर पुजारा ने ट्वीट करते हुए लिखा है, "सचमुच एक भारतीय क्रिकेटर के रूप में 10 वर्ष पूरे करने का सौभाग्य और आशीर्वाद मिला। अपने पिता की चौकस निगाहों के नीचे उन तमाम सालों पहले राजकोट में क्रिकेट खेलना शुरू किया था। मैंने कभी सोचा भी नहीं होगा कि यह सफर मुझे यहाँ तक ले आएगा। समर्थन और शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद। मैं टीम के लिए और अधिक योगदान करने के लिए तत्पर हूं! और हां, संयोगवश, आज पत्नी का जन्मदिन भी होता है, इसलिए पूजा ने सुनिश्चित किया कि मैं इस तारीख को कभी नहीं भूलूंगा।"

भारतीय टेस्ट टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने इंटरनेशनल क्रिकेट में एक दशक पूरा करने पर अपने प्रशंसकों और इन सभी वर्षों के दौरान उनके प्यार और समर्थन के लिए धन्यवाद दिया है, क्योंकि वह टेस्ट प्रारूप में राष्ट्रीय टीम के भरोसेमंद नंबर तीन बल्लेबाज बन गए हैं। 32 साल के चेतेश्वर पुजारा के लिए साल 2018 का ऑस्ट्रेलिया दौरा सबसे यादगार रहा, जहां उन्होंने भारत को 71 साल में अपनी पहली (2-1) टेस्ट सीरीज़ जीत दिलाने में मदद की और खुद 500 से ज्यादा रन बनाने में कामयाब रहे थे।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it