खेल

भारत में भी इंटरनेशनल फॉर्मूला कार रेसिंग का उत्साह हैदराबाद में लॉन्च हुआ लॉन्च

Mohsin
22 Aug 2021 6:21 PM GMT
भारत में भी इंटरनेशनल फॉर्मूला कार रेसिंग का उत्साह हैदराबाद में लॉन्च हुआ लॉन्च
x
शहर के मशहूर केबल ब्रिज से शुरू हुई यह दौड़ रफ्तार का जोर दिखात हुई लॉन्चिंग वेन्यू पर खत्म हुई

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। इंटरनेशनल फॉर्मूला कार रेसिंग का उत्साह भारत में शुरू हो गया है. पहले कदम के तौर पर देश की पहली फॉर्मूला 4 इंडियन चैंपियनशिप (Formula 4 Indian Championship) और फॉर्मूला रीजनल इंडियन चैंपियनशिप (Formula Regional Indian Championship) हैदराबाद में लॉन्च की गई. रविवार 22 अगस्त को हैदराबाद में एफआईए समर्थित ग्रेट स्ट्रीट सर्किट पर ग्रैंड चैंपियनशिप का शुभारंभ किया गया. ये चैंपियनशिप अगले साल फरवरी-मार्च में चार शहरों में होगी. ये चार शहर हैं- नई दिल्ली, चेन्नई, कोयंबटूर और हैदराबाद.

F3 स्ट्रीट सर्किट रेस का उद्घाटन हैदराबाद शहर के पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार ने झंडा लहराते हुए किया. इस रेस में भाग लेने वाले भारतीय विजेताओं को एफआईए सुपर लाइसेंस पॉइंट्स से सम्मानित किया जाएगा, जिससे भारतीय रेसर इंटरनेशनल फॉर्मूला सीरीज में हिस्सा ले सकेंगे.
शहर के मशहूर केबल ब्रिज से शुरू हुई यह दौड़ रफ्तार का जोर दिखात हुई लॉन्चिंग वेन्यू पर खत्म हुई. इस रेस में उतारी गई कारों की गति और शक्ति से दर्शक भी प्रभावित हुए. इसके साथ ही हैदराबाद में फॉर्मूला इंडियन रीजनल चैंपियनशिप और मोटर स्पोर्ट्स में फॉर्मूला 4 इंडियन चैंपियनशिप फिर से शुरू हो गई है.
भारतीय रेसरों के लिए बेहतरीन मंच
रेसिंग प्रमोशन के अध्यक्ष अखिलेश रेड्डी ने कहा, "हमारी आबादी करोड़ों में है. हमने अब प्रतिभाशाली रेसिंग ड्राइवरों के लिए एक मंच तैयार किया है. यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ रेसर्स के साथ प्रतिस्पर्धा करने और F1 मोटर स्पोर्ट्स के शीर्ष पर पहुंचने के लिए सबसे अच्छा प्लेटफॉर्म है. हम मोटरस्पोर्ट्स के दीर्घकालिक विकास में निवेश करने और भारत में रेसिंग ड्राइवरों के लिए एक महत्वपूर्ण मंच स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.
अखिलेश रेड्डी ने साथ ही कहा कि रेसिंग का पहला सीजन 22 फरवरी-मार्च को नई दिल्ली, चेन्नई, कोयंबटूर और हैदराबाद में आयोजित किया जाएगा और वैश्विक रेसिंग प्रतिभाओं को आकर्षित करेगा.
आरपीपीएल के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नवजीत गाडोके ने कहा, "हमारा निवेश भारतीय मोटर स्पोर्ट्स में क्रांति लाएगा," उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य मोटर स्पोर्ट्स के लिए एक विश्व स्तरीय प्रणाली बनाना और भारत में खेल को और अधिक लोकप्रिय बनाना है.
पूर्व फॉर्मूला वन रेस ड्राइवर नारायण कार्तिकेयन (Narain Karthikeyan) और 1983 विश्व कप विजेता टीम इंडिया के कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) को भारतीय फॉर्मूला रेस एंबेसडर नियुक्त किया गया है. इन दोनों दिग्गजों की मौजूदगी में ये चैंपियनशिप लॉन्च हुई.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta