खेल

T20 वर्ल्ड कप : ये है टीम इंडिया की सबसे बड़ी कमजोरी

Bharti sahu
21 Aug 2022 3:11 PM GMT
T20 वर्ल्ड कप : ये है टीम इंडिया की सबसे बड़ी कमजोरी
x
हर दूसरी टीम की तरह भारत भी ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप 2022 के लिए तैयारी कर रहा है.

हर दूसरी टीम की तरह भारत भी ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप 2022 के लिए तैयारी कर रहा है. लेकिन व्यस्त अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर उन्हें 100 प्रतिशत तैयार नहीं होने देगा. इसलिए, उन्हें वांछित परिणाम के लिए टेक्टिकल स्मार्टनेस और अनुभव पर ध्यान देना होगा. पिछले एक या दो दशक में दुनियाभर में लीगों के बढ़ने के साथ वैश्वीकरण क्रिकेट अपने चरम पर है. हालांकि, ऑस्ट्रेलिया अभी भी खेलने की स्थिति के मामले में अन्य देशों से बहुत अलग है.

ऑस्ट्रेलिया के लिए हो रही तैयारी
जब टी20 विश्व कप के लिए टीमें अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया की यात्रा करेगी, तो उन्हें कुछ विशेष बातों पर ध्यान देना होगा। बड़ा मैदान, स्पिनरों के लिए कम मददगार, तेज गेंदबाजों के लिए सही उछाल, बल्लेबाजों के लिए अधिक अच्छे शॉट और बराबर स्कोर में बदलाव ऐसी चीजें हैं, जिनका टीमों को ध्यान रखना होगा. बहुत सारे गैर-भारतीय खिलाड़ी, विशेषकर टी20 स्टार्स को बिग बैश लीग में खेलने को मिलता है. इसलिए वे ऑस्ट्रेलिया में खेलने की विभिन्न परिस्थितियों के बारे में पहले से ही जानते हैं. लेकिन, चूंकि भारतीय खिलाड़ियों को विदेशी लीग में भाग लेने की अनुमति नहीं है और वे केवल आईपीएल (घरेलू टूनार्मेंट जैसे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी) में खेलते हैं. विश्व कप के दौरान परिस्थितियां उनमें से कुछ को आश्चर्यचकित कर सकती हैं.
एशिया कप में उतरेगी टीम इंडिया
वर्तमान में भारत जिम्बाब्वे में खेल रहा है. इसके बाद 27 अगस्त से शुरू होने वाला एशिया कप खेलेगा. इसके तुरंत बाद सितंबर और अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज में उतरेगा, जिसमें कुल 6 टी20 और तीन वनडे मैच शामिल हैं, जो 11 अक्टूबर को समाप्त होगा. अपने व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम टी20 विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलिया में तैयारी कैंप नहीं लगा सकती है. ऐसे में, भारत को दो अभ्यास मैचों का सबसे अच्छा उपयोग करना होगा, जो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा 23 अक्टूबर को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में मेगा इवेंट के सुपर 12 मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ अपना अभियान शुरू करने से पहले खेला जाएगा.
रोहित-द्रविड़ पर रहेगी जिम्मेदारी
अनुभव के अलावा कप्तान रोहित शर्मा और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को भी रणनीतिक रूप से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा. वे बिग बैश लीग और अंतरराष्ट्रीय फिक्स्चर के दौरान इस गर्मी में ऑस्ट्रेलिया में परिस्थितियों का अध्ययन कर सकते हैं और सफल होने के लिए आवश्यक विशिष्ट कौशल को समझ सकते हैं. डेटा और विश्लेषण के संदर्भ में, वे उन सभी मैचों को देखेंगे जो पिछले कुछ सालों में ऑस्ट्रेलिया में खेले गए हैं. टीम चयन के लिहाज से यह जानकारी अहम साबित हो सकती है. माना जाता है कि वे एक अतिरिक्त रिस्ट स्पिनर या एक अतिरिक्त गेंदबाज को मौका दे सकते हैं.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta