खेल

विश्व कप-2011 के फाइनल मैच का टिकट मांगा था शोएब अख्तर, हरभजन ने की थी बोलती बंद

Chandravati Verma
3 April 2021 3:41 PM GMT
विश्व कप-2011 के फाइनल मैच का टिकट मांगा था शोएब अख्तर, हरभजन ने की थी बोलती बंद
x
भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मैदान पर चाहे कितने भी प्रतिस्पर्धी हो जाएं

भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मैदान पर चाहे कितने भी प्रतिस्पर्धी हो जाएं लेकिन मैदान के बाहर लंबे समय से दोनों देशों के खिलाड़ियों के बीच में अच्छी दोस्ती देखी गई है. कई ऐसे किस्से भारत और पाकिस्तान के खिलाड़ियों से सुनने को मिल जाएंगे जिससे पता चलता है कि आपस में इनके बीच गजब का भाईचारा है. ऐसा ही एक वाक्या 2011 विश्व कप के सेमीफाइनल का है. भारत और पाकिस्तान के बीच सेमीफाइनल मैच से पहले पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने हरभजन सिंह से मैच के टिकट मांगे थे जो हरभजन ने दे दिए थे.

इसके बाद अख्तर ने हरभजन से वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले फाइनल मैच के टिकट मांगे थे जिस पर हरभजन ने पाकिस्तानी खिलाड़ी को मुंह चिढ़ाने वाला जवाब दिया था. पाकिस्तान को सेमीफाइनल में मात देने के बाद भारत फाइनल में पहुंचा था जहां उसका सामना दो अप्रैल को श्रीलंका से हुआ था.
पाकिस्तान नहीं भारत खेलेगा फाइनल
हरभजन ने बताया है कि जब अख्तर ने उनसे सेमीफाइनल के टिकट मांगे थे तो उन्होंने दे दिए थे, लेकिन फाइनल के टिकट मांगने पर उन्होंने अख्तर को मजेदार जवाब दिया था. हरभजन ने स्पोटर्स टुडे से बात करते हुए कहा, "2011 विश्व कप में मैं शोएब अख्तर से सेमीफाइनल मैच से पहले मिला था और उन्होंने मुझसे भारत बनाम पाकिस्तान सेमीफाइनल मैच के लिए टिकट मांगे थे. मैंने किसी तरह चार टिकट की व्यवस्था कर दी. इसके बाद उन्होंने मुझसे फाइनल मैच के टिकट भी मांगे. मैंने कहा कि तुम क्या करोगे? भारत फाइनल खेलेगा और तुम्हें मैच देखने आना है तो मैं तुम्हें 2-4 टिकट दे दूंगा. अख्तर सेमीफाइनल मैच नहीं खेले थे और हम मैच जीत फाइनल में पहुंच गए थे."
विश्व कप जीत के 10 साल
भारत ने दो अप्रैल को ही श्रीलंका को वानखेड़े स्टेडियम में मात दे 28 साल बाद वनडे विश्वकप का खिताब अपने नाम किया था. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने यह ऐतिहासिक जीत हासिल की थी. पूरे देश ने शुक्रवार को विश्व कप जीत के 10 साल पूरे होने का जश्न मनाया था. इससे पहले भारत ने 1983 में कपिल देव की कप्तानी में विश्न कप जीता था. धोनी की कप्तानी में ही भारत ने 2007 में पहले टी20 विश्व कप की ट्रॉफी उठाई थी. टी20 विश्व कप के फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को ही मात दे खिताब अपने नाम किया था.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta