खेल

सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी के खिताब के लिए नॉमिनेट हुए शेफाली वर्मा और स्नेह राणा

Bharti sahu
7 July 2021 9:45 AM GMT
सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी के खिताब के लिए नॉमिनेट हुए शेफाली वर्मा और स्नेह राणा
x
भारतीय महिला क्रिकेट टीम की युवा ओपनर बल्लेबाज शेफाली वर्मा और ऑलराउंडर स्नेह राणा को इंग्लैंड दौरे पर शानदार प्रदर्शन करने के बाद आइसीसी ने दोनों को महीने की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी के खिताब के लिए नॉमिनेट किया है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | भारतीय महिला क्रिकेट टीम की युवा ओपनर बल्लेबाज शेफाली वर्मा और ऑलराउंडर स्नेह राणा को इंग्लैंड दौरे पर शानदार प्रदर्शन करने के बाद आइसीसी ने दोनों को महीने की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी के खिताब के लिए नॉमिनेट किया है। इन दोनों के अलावा इंग्लैंड महिला क्रिकेट टीम की स्पिनर सोफी एक्लेस्टोन को भी महिला वर्ग में नामित किया गया है। वहीं पुरुष वर्ग में न्यूजीलैंड के बल्लेबाज डेवोन कॉनवे और तेज गेंदबाज काइल जेमीसन के अलावा दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डिकॉक को नामित किया गया है।

खेल के सबसे छोटे प्रारूप में सभी को प्रभावित कर चुकी 17 साल की शेफाली ने इंग्लैंड के खिलाफ शानदार टेस्ट पदार्पण में दोनों पारियों में अर्धशतक जड़ते हुए 96 और 63 रन की पारी खेली जिसके लिए वह मैच की बेस्ट प्लेयर बनीं। वो डेब्यू टेस्ट दोनों पारियों में अर्धशतक जड़ने वाली भारत की पहली और दुनिया की चौथी खिलाड़ी बनीं। उनका पहली पारी का स्कोर डेब्यू करते हुए किसी भारतीय महिला का बेस्ट स्कोर था। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ दो वनडे में 85.50 के स्ट्राइक रेट से 59 रन भी बनाए।

आलराउंडर स्नेह ने भी ब्रिस्टल में यादगार टेस्ट डेब्यू करते हुए दूसरी पारी में 154 गेंद में नाबाद 80 रन बनाए जिससे भारतीय टीम फालोआन खेलते हुए मैच ड्रॉ कराने में सफल रही। उन्होंने इंग्लैंड की पारी में 131 रन देकर चार विकेट भी चटकाए। उन्होंने इसी टीम के खिलाफ एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भी 43 रन देकर एक विकेट हासिल किया। इंग्लैंड की बायें हाथ की स्पिनर एक्लेस्टोन भारत के खिलाफ एकमात्र टेस्ट में सबसे सफल गेंदबाज रहीं। उन्होंने मैच में 25.75 की औसत से 206 छह रन देकर आठ विकेट हासिल किए। उन्होंने दोनों पारियों में चार-चार विकेट हासिल किए। उन्होंने दो वनडे में 12.16 की औसत और 3.65 की इकोनॉमी रेट से छह विकेट चटकाए।

पुरुष वर्ग में कॉनवे ने जून में लार्ड्स में डेब्यू करते हुए दोहरा शतक लगाया और उन्होंने अगले दो टेस्ट में दो अर्धशतक जड़े जिसमें भारत के खिलाफ आइसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल भी शामिल है। उन्होंने 63.16 की औसत से 379 रन बनाए। वहीं डिकॉक वेस्टइंडीज के खिलाफ 'प्लेयर आफ द सीरीज' बने। उन्होंने पहले टेस्ट में नाबाद 141 और दूसरे टेस्ट में 96 रन बनाए। वहीं काइल जेमीसन वर्ल्ड टेस्ट चैंपियन फाइनल में मैच के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे। उन्होंने मैच में 61 रन देकर सात विकेट चटकाए और टीम की जीत में बड़ी भूमिका निभाई।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta