खेल

सहवाग ने क्रिकेट छोड़ने के 6 साल बाद जताया मलाल, बोले- ऐसी सलाह पहले मिल जाती तो और ज्यादा रन बनाता

Rani Sahu
10 Jun 2021 10:17 AM GMT
सहवाग ने क्रिकेट छोड़ने के 6 साल बाद जताया मलाल, बोले- ऐसी सलाह पहले मिल जाती तो और ज्यादा रन बनाता
x
टीम इंडिया (Team India) के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने 9 जून को खुलासा किया कि पूर्व कप्तान मंसूर अली खान पटौदी

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने 9 जून को खुलासा किया कि पूर्व कप्तान मंसूर अली खान पटौदी, सुनील गावस्कर और क्रिस श्रीकांत ने उनके फुटवर्क को ठीक करने में मदद की. इसके चलते उन्हें ओपनिंग करने में मदद मिली. वीरेंद्र सहवाग ने भारत के लिए 104 टेस्ट मैच खेले और 8000 से ज्यादा रन बनाए. वे इकलौते भारतीय हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक लगाए हैं. उन्होंने साल 2015 में क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. उन्होंने बताया कि पटौदी, गावस्कर और श्रीकांत ने उन्हें गार्ड लेने को लेकर लगभग एक जैसे सुझाव दिए थे. इसके चलते इंटरनेशनल करियर के शुरुआत में ही उन्हें मदद मिल गई. सहवाग ने टीम इंडिया के पूर्व बैटिंग कोच संजय बांगड़ के साथ मिलकर Cricuru नाम की एक क्रिकेट लर्निंग ऐप बनाई है. इसके लॉन्चिंग के मौके पर ही उन्होंने यह खुलासा किया.

सहवाग ने कहा, 'जब मैं इंटरनेशनल क्रिकेट में आया था तो कई कमेंटेटर्स और एक्सपर्ट्स ने फुटवर्क की कमी पर आलोचना की थी. लेकिन किसी ने भी समाधान नहीं बताया. सब कहते थे कि तुम्हें पैरों के मूवमेंट में सुधार करने की जरूरत है. वे (पटौदी-गावस्कर) कहते थे कि क्रिकेट में पैर का हिलना जरूरी नहीं है. जरूरी यह है कि तुम गेंद को शरीर के पास और आंखों के नीचे खेलो. विशेष रूप से पटौदी और गावस्कर ने मुझसे कहा कि यदि तुम गेंद से दूर हो तो तब पैर का हिलना या नहीं हिलना मतलब रखता है. उन्होंने मुझे अभी तक की बेस्ट सलाह दी कि गार्ड मिडिल या ऑफ स्टंप पर लेना चाहिए न कि लेग स्टंप पर. इससे तुम गेंद के पास रहोगे फिर भले ही पैर न चल रहे हो.'
सहवाग बोले- ऐसी सलाह पहले मिल जाती तो और ज्यादा रन बनाता
अपनी ऐप के जरिए सहवाग और बांगड़ क्रिकेट सीखने के अनुभव को बेहतर बनाना चाहते हैं. इसमें पैसे देकर कोचिंग सीखी जा सकती है. साथ ही क्रिकेटर्स से बात भी की जा सकती है. इससे युवाओं को खेल के मानसिक पक्ष को जानने में भी मदद मिलेगी और वे मैदान पर कामयाबी पा सकते हैं. सहवाग ने आगे कहा, 'अगर मुझे इस तरह की सलाह जल्दी मिल जाती तो मैं बेहतर क्रिकेट खेल पाता. साथ ही ज्यादा रन बना पाता. Cricuru के जरिए आप इस तरह की बहुत सारी जरूरी टिप्स अनुभवी क्रिकेटरों से ले सकते हैं.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta