Top
खेल

चार साल के बाद टॉप्स में शामिल हुईं सानिया मिर्जा

Chandravati Verma
7 April 2021 4:18 PM GMT
चार साल के बाद टॉप्स में शामिल हुईं सानिया मिर्जा
x
भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा को बुधवार को चार साल के बाद सरकार की टारगेट ओलिंपिक पोडियम योजना में शामिल किया

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा (Sania Mirza) को बुधवार को चार साल के बाद सरकार की टारगेट ओलिंपिक पोडियम योजना (Target Olympics Podium Scheme) में शामिल किया गया. कई ग्रैंडस्लैम ट्रॉफी जीतने वाली 34 साल की सानिया ने चोट के कारण चार साल पहले 2017 में टॉप्स योजना से हटने का फैसला किया था. उन्हें मिशन ओलिंपिक इकाई की 56वीं बैठक के दौरान टॉप्स में शामिल किया गया. चोट के कारण सानिया को लंबे समय तक खेल से बाहर रहना पड़ा था. भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के एक सूत्र ने पीटीआई-भाषा से कहा, 'हां, सानिया को हाल में टॉप्स सूची में शामिल किया गया है.'

सानिया ने बच्चे के जन्म के कारण खेल से ब्रेक लिया था. उन्होंने अपनी सुरक्षित (प्रोटेक्टिड) रैंकिंग के आधार पर पहले ही टोक्यो ओलिंपिक के लिये क्वालीफाई कर लिया है. विश्व रैंकिंग में वह अभी 157वें स्थान पर काबिज हैं लेकिन डब्ल्यूटीए के नियमों के अनुसार जब एक खिलाड़ी चोट या बच्चे के जन्म के लिये छह महीने से ज्यादा समय की छुट्टी लेता है तो वे एक 'विशेष रैंकिंग' (जिसे 'प्रोटेक्टिड' रैंकिंग के तौर पर भी जाना जाता है) के लिये अनुरोध कर सकते हैं. एक खिलाड़ी की विशेष रैंकिंग उनके अंतिम टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के बाद की विश्व रैंकिंग होती है और सानिया के मामले में यह अक्टूबर 2017 में खेला गया चाइना ओपन था. वह तब उस समय विश्व रैंकिंग में नौंवे स्थान पर थीं.
2020 में होबार्ट इंटरनेशनल से सानिया ने की थी वापसी
इसलिए इस समय सानिया की विशेष रैंकिंग नौ है और इससे वह पहले ही टोक्यो ओलिंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुकी हैं. कोविड-19 महामारी के कारण डब्ल्यूटीए ने सभी खिलाड़ियों के लिए विशेष रैंकिंग शुरू की थी. सानिया बच्चे के जन्म के कारण दो साल तक टेनिस नहीं खेलीं और उन्होंने पिछले साल सत्र के शुरुआती होबार्ट इंटरनेशनल डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट से कोर्ट में वापसी की थी. उन्होंने यूक्रेन की नादिया किचेनोक के साथ जोड़ी बनाकर महिला युगल खिताब जीता था.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it