खेल

रविचंद्रन अश्विन ने बताया है कि वह रवि शास्त्री की किस बात से हुए थे आहत

Bharti sahu
21 Dec 2021 9:20 AM GMT
रविचंद्रन अश्विन ने बताया है कि वह रवि शास्त्री की किस बात से हुए थे आहत
x
भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक माना जाता है और जब बात लाल गेंद के खेल की बात आती है

भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक माना जाता है और जब बात लाल गेंद के खेल की बात आती है तो उनके रिकॉर्ड अतुलनीय होते हैं. टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर अश्विन ने हाल ही में स्वीकार किया है कि रवि शास्त्री (Ravi Shastri) द्वारा कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) को 2019 में सिडनी में भारत का नंबर 1 विदेशी स्पिनर करार दिए जाने के बाद उन्होंने खुद को आहत हुआ महसूस किया था. इस घटना को लेकर अश्विन ने खुलकर बात की और कहा कि इस बात से मैं काफी आहत था.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2019 में बारिश से प्रभावित सिडनी टेस्ट के दौरान कुलदीप यादव ने शानदार परफॉर्म किया था औल मेजबान टीम के खिलाफ एक उत्तम दर्जे की गेंदबाजी करते हुए पांच विकेट हासिल किए थे. हालांकि, यह मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ था. लेकिन भारत ने ऑस्ट्रेलिया में एक ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत ली थी. इस जीत के बाद भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि कुलदीप अब उनके सर्वश्रेष्ठ विदेशी स्पिनर हैं. इसके साथ ही उन्होंने अश्विन की चोट और फिटनेस का जिक्र करते हुए कहा था कि सभी के पास समय है.
रविचंद्रन अश्विन ने क्रिकेट मंथली को दिए इंटरव्यू में कहा, "मैं रवि भाई का बहुत सम्मान करता हूं. हम सब करते हैं और मैं समझता हूं कि हम सब कुछ कह सकते हैं और फिर उन्हें वापस ले सकते हैं. उस पल में, हालांकि, मुझे आहत महसूस हुआ. बहुत ज्यादा आहत. हम सभी इस बारे में बात करते हैं कि अपने साथियों की सफलता का आनंद लेना कितना महत्वपूर्ण है. और मैं कुलदीप के लिए खुश था. मैं पांच विकेट हासिल नहीं कर पाया, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में उसके पास पांच विकेट हैं. मुझे पता है कि यह कितना बड़ा है. यहां तक ​​​​कि जब मैंने [अन्य समय] अच्छी गेंदबाजी की है, तब भी मैं पांच विकेट नहीं ले पाया."
इस बारे में आगे विस्तार करते हुए अश्विन ने एक बात कही कि टीम के साथी की सफलता का आनंद लेने के लिए, टीम का हिस्सा महसूस करने की जरूरत है, लेकिन उनके साथ ऐसा नहीं था. सीनियर स्पिनर को बस के नीचे फेंका गया महसूस हुआ, लेकिन फिर भी जश्न में शामिल हो गया, क्योंकि भारत ने बड़े पैमाने पर सीरीज जीती थी.
उन्होंने कहा, "अगर मुझे आना है और उनकी (कुलदीप की) खुशी और टीम की सफलता में हिस्सा लेना है, तो मुझे ऐसा महसूस होना चाहिए कि मैं वहीं हूं. अगर मुझे लगता है कि मुझे बस के नीचे फेंक दिया जा रहा है, तो मुझे टीम या टीम के साथी की सफलता का आनंद लेने के लिए कैसे उठना चाहिए और पार्टी में आना चाहिए? मैं वापस अपने कमरे में गया और फिर मैंने अपनी पत्नी से बात की. मेरे बच्चे वहां थे. मैं भी इस पार्टी का हिस्सा बना, क्योंकि दिन के अंत में, हमने एक विशाल सीरीज जीती थी."
बता दें कि अश्विन ने आश्चर्यजनक रूप से इस साल की शुरुआत में इंग्लैंड के दौरे के दौरान टेस्ट नहीं खेला. इसके बाद उन्होंने संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में टी20 विश्व कप के दौरान आश्चर्यजनक रूप से सफेद गेंद में वापसी की. उन्हें घर में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान 'प्लेयर ऑफ द सीरीज' भी चुना गया था.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta