खेल

इस बल्लेबाज के लिए करो या मरो साबित होगी रणजी ट्राफी, जानें नाम

Bharti sahu
3 Feb 2022 4:39 PM GMT
इस बल्लेबाज के लिए करो या मरो साबित होगी रणजी ट्राफी, जानें नाम
x
कोरोना की वजह से इस बार बीसीसीआइ ने रणजी ट्राफी को दो चरण में कराने का फैसला लिया है।

कोरोना की वजह से इस बार बीसीसीआइ ने रणजी ट्राफी को दो चरण में कराने का फैसला लिया है। पहले चरण की शुरुआत 10 फरवरी से होने जा रही है जो भारतीय टीम के दो दिग्गजों को लिए अहम साबित होने वाला है। टेस्ट टीम के बाहर होने की कगार पर पहुंचे अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा को बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी घरेलू क्रिकेट में फार्म हासिल करने की सलाह दी है।

भारत को श्रीलंका के खिलाफ घर पर दो टेस्ट मैचों की सीरीज में खेलना है। इस सीरीज के कार्यक्रम में बदलाव किया गया है। भारत दौरे पर श्रीलंका की टीम पहले टेस्ट और फिर टी20 मुकाबला खेलने वाली थी लेकिन अब टेस्ट मैचों की सीरीज को बाद में खेला जाएगा। ऐसे में रहाणे और पुजारा दोनों को घरेलू क्रिकेट में जाकर फार्म हासिल करने का मौका मिल जाएगा। मुंबई की टीम का हिस्सा रहाणे और सौराष्ट्र की तरफ से खेलने वाले पुजारा पर सबकी नजर रहेगी।
एलीट ग्रुप के रणजी मुकाबले 16 फरवरी से शुरू होंगे और दोनों ही सीनियर खिलाड़ियों को श्रीलंका सीरीज से पहले कम से कम दो मुकाबले मिलेंगे। इन दो मैच की चार पारियों में उनको बल्लेबाजी का मौका मिल सकता है। अच्छी पारी खेलकर पुजारा और रहाणे लय हासिल कर चयनकर्ताओं को प्रभावित कर सकते हैं।
मुंबई रणजी टीम के कोच अमोल मजूमदार ने पीटीआइ से कहा, "अजिंक्य यकीनन इस मुकाबलों के बारे में सोच रहे होंगे। वह मुंबई की टीम के साथ प्रैक्टिस कर रहे हैं और हमारी पिछले कुछ दिनों में काफी मुलाकातें हुई हैं। उन्होंने दो चार सेशन पहले ही बल्लेबाजी कर ली है। वह बहुत ही शानदार लय में नजर आए हैं।"
वहीं सौराष्ट्र के कोच निराज ओदेंद्र ने कहा, "पुजारा दूसरे बल्लेबाजों की तरह के नहीं है। उनके पास हमेशा ही कुछ खास योजना होती है जब कभी भी वो नेट्स पर प्रैक्टिस करने पहुंचते हैं। जिस तरह से वह ट्रेनिंग करते हैं वो बहुत ही अलग होता है। आज वह रिवर्स स्विंग के खिलाफ बल्लेबाजी करना चाहते थे जो उनको श्रीलंका के खिलाफ खेलने को मिल सकती है।"


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta