खेल

चेन्नई को हराने के बाद कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक ने कही यह बड़ी बात

Subhi
8 Oct 2020 6:19 AM GMT
चेन्नई को हराने के बाद कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक ने कही यह बड़ी बात
x

चेन्नई को हराने के बाद कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक ने कही यह बड़ी बात 

कोलकाता नाइटराइडर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग के मुकाबले में महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स को 10 रन से हराया।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | कोलकाता नाइटराइडर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग 2020 (IPL 2020) के मुकाबले में महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 10 रन से हराया। कोलकाता ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सभी विकेट खोकर 167 रन बनाए। जवाब में चेन्नई की टीम पांच विकेट खोकर 157 रन ही बना सकी। मैच में जीत के बाद कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक टीम की काफी तारीफ। उन्होंने चार ओवर में 31 रन देकर एक विकेट लेने वाले सुनील नरेन और दो ओवर में 18 रन देकर एक विकेट लेने वाले आंद्रे रसल की जमकर सराहना की। कार्तिक ने कहा कि हर टीम के लिए कुछ प्रमुख खिलाड़ी होते हैं। नरेन हमारे लिए उनमें एक हैं। उनका साथ दें, इतना तो हम कर ही सकते हैं। दो-तीन खराब मैच मायने नहीं रखते।

केकेआर ने चेन्नई के खिलाफ मैच में बल्लेबाजी में काफी बदलाव किए। बैटिंग में बदलाव को लेकर कार्तिक ने कहा कि हमारी बल्लेबाजी में काफी लचिलापन है। मैनें नंबर तीन से बल्लेबाजी की शुरुआत की थी और आज मैं सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आया। बता दें कि इस मैच से पहले नरेन टीम के लिए ओपनिंग कर रहे थे। कार्तिक ने सलामी जोड़ी में बदलाव करते हुए नरेन की जगह शुभमन गिल (11) के साथ राहुल त्रिपाठी (81 रन, 51 गेंद, आठ चौके, तीन छक्के) को पारी की शुरुआत करने भेजा। नरेन ( 17 रन) नंबर चार पर बल्लेबाजी करने आए। उन्होंने 11वें ओवर में कर्ण की गेंद को लांग ऑन और डीप मिडविकेट के ऊपर से छह रन के लिए भेजना चाहा, लेकिन बाउंड्री के करीब एक बेहतरीन रिले कैच ने उन्हें पवेलियन भेज दिया। जडेजा ने डाइव लगाते हुए कैच लपका और फिर बाउंड्री के पार जाने से पहले गेंद डुप्लेसिस की ओर उछाल दी, जिसे डुप्लेसिस ने लपककर नरेन की पारी का अंत किया।

शेख जायद स्टेडियम में लक्ष्य का पीछा करते हुए सीएसके के लिए शेन वॉटसन (50 रन, 40 गेंद, छह चौके, एक छक्का) और अंबाती रायुडू (30 रन, 27 गेंद, तीन चौके) ने उपयोगी योगदान दिया। क्तान महेंद्र सिंह धौनी सहित अन्य बड़े नाम कोई कमाल नहीं दिखा सके। धौनी बेहद धीमे रहे और 11 रन बनाने के लिए उन्होंने 12 गेंद खर्च कीं। वे सिर्फ एक चौका लगा सके। अंतिम ओवरों में रवींद्र जडेजा (नाबाद 21 रन, आठ गेंद, तीन चौके, एक छक्का) ने जरूर किला लड़ाने का प्रयास किया, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it