खेल

जडेजा की गेंदबाजी कर सकती है न्यूजीलैंड को परेशान : डेविड वॉर्नर

Bharti sahu
14 Jun 2021 8:05 AM GMT
जडेजा की गेंदबाजी कर सकती है न्यूजीलैंड को परेशान : डेविड वॉर्नर
x
पूरी दुनिया के क्रिकेट फैन्स बेसब्री से आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का इंतजार कर रहे है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | पूरी दुनिया के क्रिकेट फैन्स बेसब्री से आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का इंतजार कर रहे है. इस टूर्नामेंट को भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 से 22 जून तक साउथेमप्टन के एजेस बाउल में खेला जाएगा. आईसीसी के इस बड़े टूर्नामेंट को लेकर कई दिग्गज खिलाड़ियों और विशेषज्ञों ने संभावित विजेताओं, टीम संयोजनों और इस मुकाबले से जुड़े अन्य पहलुओं पर अपने विचार दिए ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक ओपनर डेविड वॉर्नर ने भी इस टूर्नामेंट को लेकर अपनी राय दी है. हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भारत की सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग इलेवन को लेकर अपनी राय दी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रवींद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन दोनों को मैदान में उतरना चाहिए

डेविड वॉर्नर ने टीम इंडिया में रविंद्र जडेजा के महत्व को बताते हुए कहा कि बाएं हाथ का यह स्पिनर एक विशेष लंबाई पर लगातार हिट कर सकता है, जो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में न्यूजीलैंड को परेशान कर सकता है. वॉर्नर ने स्पोर्ट्स टुडे के साथ बातचीत में कहा, ''समय के साथ जडेजा ने बाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ असाधारण रूप से अच्छी गेंदबाजी की है. केवल एक छोटा फुटमार्क होना चाहिए, जो एक रोटी के आकार का हो सकता है और वह लगातार हिट करेंगे. वे उन दो स्पिनरों से परेशान होने वाले हैं, मुझे लगता है
विशेष रूप से, इंग्लैंड के हालात स्पिनरों के पक्ष में नहीं हैं. फिर भी कई विशेषज्ञों ने टीम इंडिया को अश्विन और जडेजा दोनों के साथ उनकी त्रि-आयामी क्षमताओं के कारण जाने की सिफारिश की है. इसलिए, यह देखना दिलचस्प होगा कि विराट कोहली और टीम प्रबंधन इस महत्वपूर्ण मुकाबले के लिए किस संयोजन का चयन करेंगे.इस बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में प्रतियोगिता के रोमांचक होने की उम्मीद है, क्योंकि भारत और न्यूजीलैंड ने हाल ही में रेड-बॉल क्रिकेट में असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है. ये दोनों टीमें आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष दो स्थानों पर भी कायम हैं. हालांकि, किसी को यह नहीं भूलना चाहिए कि न्यूजीलैंड के पक्ष में कई संभावनाएं हैं.
इंग्लैंड के हालात काफी हद तक न्यूजीलैंड से मिलते-जुलते हैं. ऐसे में न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को खुद को इन परिस्थितियों में ढालने के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं होगी. इसके अलावा वे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से पहले दो मैचों की टेस्ट सीरीज में मेजबान इंग्लैंड से खेल रहे हैं. इसके विपरीत, विराट कोहली एंड कंपनी को ऐसी कोई सुविधा नहीं मिली है. भारतीय क्रिकेट टीम 3 जून को इंग्लैंड पहुंची थी और इसके बाद 10 दिन का क्वारंटीन पीरियड पूरा किया. इसके बाद ही टीम प्रैक्टिस के लिए आपस में ही एक इंट्रा स्क्वॉयड मैच खेल रही है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि क्या टीम इंडिया इन सब बाधाओं को पार कर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप पर अपना कब्जा जमा सकती है


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta