Top
खेल

IPL 2021 मे होटल बुकिंग में सामने आई गड़बड़ी, हवाई सफर के चलते फूटा बायो बबल

Chandravati Verma
4 May 2021 1:46 PM GMT
IPL 2021 मे होटल बुकिंग में सामने आई गड़बड़ी, हवाई सफर के चलते फूटा बायो बबल
x
29 मैचों के बाद कोरोना वायरस के मामलों के चलते इंडियन प्रीमियर लीग का 14वां सीजन यानी IPL 2021 सस्पेंड हो गया

29 मैचों के बाद कोरोना वायरस के मामलों के चलते इंडियन प्रीमियर लीग का 14वां सीजन यानी IPL 2021 सस्पेंड हो गया. BCCI की ओर से जारी बयान में कहा गया कि खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए टूर्नामेंट को रोका गया है. अभी यह तय नहीं है कि बाकी बचे हुए 31 मैच कब खेले जाएंगे. इन सबके बीच आईपीएल को सस्पेंड किए जाने पर बीसीसीआई के दावों और तैयारियों की पोल खुल गई है. बीसीसीआई ने पिछले सप्ताह कहा था कि आईपीएल 2021 के बायो बबल पूरी तरह सुरक्षित है. किसी तरह की समस्या है. लेकिन इस बयान के तीन-चार दिन बाद ही कोरोना के मामले सामने आ गए. आईपीएल 2021 के सुरक्षित बायो बबल में कोरोना ने सेंध लगा दी. आखिर यह कैसे हुआ. बीसीसीआई की तैयारियों में कहां गड़बड़ी रही.

इस बारे में सामने आया है कि आईपीएल 2021 के बायो बबल में काफी खामियां थीं. कई ऐसे लूपहोल छोड़ दिए गए थे जिनके चलते देर-सवेर कोरोना की अनहोनी होनी ही थी. बीसीसीआई ने छह महीने पहले ही यूएई में शानदार तरीके से आईपीएल का आयोजन किया गया था. उस समय टूर्नामेंट के शुरू होने के बाद कोरोना का एक भी केस नहीं आया था. ऐसे में जब बीसीसीआई प्रेसीडेंट सौरव गांगुली ने कहा था कि आईपीएल 2021 भारत में ही होगा तो लोगों ने भरोसा किया कि इस बार भी सफलता से टूर्नामेंट हो जाएगा. मगर ऐसा हो न सका. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, आईपीएल 2020 और आईपीएल 2021 के आयोजन में काफी अंतर रहा. पिछले साल जहां एक व्यवस्थित तरीके से टूर्नामेंट हुआ तो इस बार बहुत कुछ फ्रेंचाइजियों पर छोड़ दिया गया.
होटल बुकिंग में सामने आई गड़बड़ी
रिपोर्ट में लिखा है कि इस बार रैंडम तरीके से होटल बुक किए गए. होटल स्टेडियम से काफी दूर भी थे.एक टीम का होटल तो मॉल के अंदर था. साथ ही होटल बुकिंग के दौरान बायो बबल पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया. साथ ही ग्राउंड स्टाफ बायो बबल का हिस्सा नहीं थे. इस वजह से पिछले एक महीने में ग्राउंड स्टाफ के कई लोग पॉजिटिव आए थे. आईपीएल 2021 का आयोजन अलग-अलग शहरों में किया गया. ऐसे में कुछ मैचों के बाद खिलाड़ियों को एक शहर से दूसरे शहर से जाना पड़ा. यह सफर फ्लाइट्स के जरिए हुआ. इसके चलते खिलाड़ियों को फ्लाइट टर्मिनल से गुजरना पड़ा. यह प्रक्रिया कोरोना के संक्रमण की आशंका को बढ़ाती है.
इस बार बायो बबल को मैनेज करने का जिम्मा खुद बीसीसीआई ने ही उठा रखा था. अस्पताल और टेस्टिंग लैब के अलावा बाकी सब काम बीसीसीआई के पास ही था. खिलाड़ियों के मूवमेंट पर नज़र रखने के लिए जो जीपीएस डिवाइस दी गई थी उसके भी खराब होने की जानकारी है. कई टीमों की ओर से कहा गया कि जीपीएस डिवाइस में गड़बड़ी थी. कुछ टीमों ने तो अपने खाना बनाने के लिए कुक को रखा था लेकिन कुछ टीमें होटल स्टाफ के भरोसे ही थीं.
आईपीएल 2020 से इस तरह अलग रहा आईपीएल 2021
अब अगर आईपीएल 2020 से तुलना की जाए तो पता चलता है कि पिछले साल तीन शहरों में सभी मैच हुए थे. इस बार छह शहरों में मैच होने थे. पिछली बार सभी टीमें टूर्नामेंट खत्म होने तक एक ही होटल में रहीं तो इस बार एक शहर से दूसरे शहर जाने की वजह से होटल बदलने पड़े. फिर आईपीएल 2020 में टीमों ने होटल से स्टेडियम का सफर बसों से पूरा किया. जैसे कोई टीम दुबई में थी तो वह शारजाह या अबूधाबी भी बस से ही गई. बस का स्टाफ भी बबल का हिस्सा था. लेकिन इस बार ऐसा नहीं था. खिलाड़ी होटल से स्टेडियम तो बस से जा रहे थे लेकिन एक शहर से दूसरे शहर का सफर फ्लाइट से पूरा हुआ. ऐसे में जितना ज्यादा मूवमेंट हुआ कोरोना का खतरा उतना ही बढ़ा.
आईपीएल 2020 के दौरान बायो बबल का मैनेजमेंट ब्रिटेन की एक कंपनी को दिया गया था. उसने ही खिलाड़ियों को बबल के बारे में समझाने और बाकी व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी ली थी. मगर अबके बीसीसीआई खुद ही सब देख रहा था.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it