खेल

भारतीय तीरंदाजों का पेरिस में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर में खेलने का रास्ता हुआ साफ

Bharti sahu
1 Jun 2021 1:57 PM GMT
भारतीय तीरंदाजों का पेरिस में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर में खेलने का रास्ता हुआ साफ
x
आखिरकार भारतीय तीरंदाजों का पेरिस में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर में खेलने का रास्ता साफ हो गया है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | आखिरकार भारतीय तीरंदाजों का पेरिस में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर में खेलने का रास्ता साफ हो गया है। फ्रांस भारतीय विदेश मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद 23 सदस्यीय तीरंदाजी दल को वीजा देने के लिए तैयार हो गया है। पहले उसने भारतीय टीम को वीजा देने से इंकार कर दिया था।

पेरिस विश्व कप में खेलने के रूप में तीरंदाजों को जहां खुशी नसीब हुई वहीं जापान ने उन्हें बुरी खबर भी दी है। ओलंपिक से पहले तीरंदाजों की टोक्यो में तैयारियां अब संभव नहीं हो पाएंगी। जापान ने वेटलिफ्टिंग के बाद अब तीरंदाजों की तैयारियों पर रोक लगा दी है

पेरिस में 10 दिन के एकांतवास में रहेंगे तीरंदाज
नीरज चोपड़ा को वीजा जारी करने के बाद फ्रांसीसी दूतावास ने तीरंदाजों को भी वीजा जारी करने का फैसला लिया। पेरिस में 21 से 27 जून को होने वाले विश्व कप में महिला तीरंदाजों को टीम इवेंट में क्वालिफाई करना है। यही कारण है कि दीपिका कुमारी, कोमालिका बारी और अंकिता भकत की अगुवाई वाली महिला टीम को पांच जून को ही पेरिस रवाना कर दिया जाएगा।
यहां टीम को 10 दिनों के एकांतवास में रहना पड़ेगा। पुरुष तीरंदाज नौ जून को रवाना किए जाएंगे। खास बात यह है कि इस बार रीकर्व के साथ कंपाउंड तीरंदाजों को विश्व कप में खेलने भेजा जा रहा है। अतानु दास, प्रवीण जाधव, तरुणदीप रॉय की टीम पहले ही ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुकी है, जबकि दीपिका कुमारी ने व्यक्तिगत स्पर्धा में क्वालिफाई किया है।

तीरंदाजों के लिए झटका है टोक्यो में तैयारियों पर रोक
पेरिस विश्व कप के बाद तीरंदाजों को पांच जुलाई को टोक्यो के पास स्थित कोरबेक सिटी ओलंपिक की तैयारियों के लिए रवाना होना था। जापान स्थित भारतीय दूतावास और साई ने मिलकर वेटलिफ्टरों और तीरंदाजों की टोक्यो में अलग-अलग स्थानों पर तैयारियों की योजना बनाई थी। लेकिन पहले निप्पॉन स्पोट्र्स साइंस यूनिवर्सिटी ने मीराबाई चानू को टोक्यो में तैयारियों से रोका। अब कोरबेक सिटी ने तीरंदाजों की तैयारियों पर भी रोक लगा दी है। हालांकि साई अभी भी प्रयास कर रही है कि किसी तरह मीराबाई और तीरंदाजों को टोक्यो में तैयारियों की अनुमति मिल जाए।



Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta