खेल

पाक की जीत पर भारत में फोड़े गए पटाखे, गौतम गंभीर ने गुस्से में कही ये बात

jantaserishta.com
25 Oct 2021 12:08 PM GMT
पाक की जीत पर भारत में फोड़े गए पटाखे, गौतम गंभीर ने गुस्से में कही ये बात
x

नई दिल्ली: भारत को टी20 वर्ल्ड कप के अपने पहले मुकाबले में पाकिस्तान के हाथों हार का सामना करना पड़ा. पाकिस्तान की जीत पर भारत में कुछ जगहों पर पटाखे फोड़े गए थे. यही नहीं, सोशल मीडिया पर हार के बाद तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को ट्रोल किया जा रहा है. अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने पटाखे छोड़ने और जश्न मनाने की घटनाओं को बेहद शर्मनाक बताया है. साथ ही, मोहम्मद शमी और विराट कोहली पर भी निजी हमले बोलने वालों पर गंभीर ने करारा हमला बोला है.

गंभीर ने कहा, 'शर्मनाक है कि आप हिंदुस्तान में रहते हैं और जब पाकिस्तान जीतता है तो पटाखे छोड़ते या जश्न मनाते हैं. यह बहुत शर्मनाक बात है. अगर देश में कहीं भी ऐसी घटना हुई है, तो नहीं होनी चाहिए. क्योंकि आप अपनी टीम को सपोर्ट करते हैं और हार-जीत होती रहती है. जिस तरीके से लोगों ने रिएक्शन दिया वह बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है.'
'किसी को टारगेट करना सही नहीं'
पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि 'जब आप मैच खेलने के लिए जाते हैं तो जीतने के लिए जाते है. जब किसी से आप हाथ मिलाते हैं या गले मिलते हैं तो उसमें कोई गलत नहीं है. जब आप मैच खेल रहे होते हैं तो कोई दोस्ती नहीं. साथ ही, मैं यह कह रहा हूं कि जब हम जीतते हैं तो सोशल मीडिया पर टीम के साथ जीतते हैं और टीम के साथ ही हारते हैं. देश की तरफ से जीतते हैं और देश की तरफ से ही हारते हैं. किसी इंडिविजुअल को टारगेट करना सही नहीं है.'
'जो हिंदुस्तान के लिए खेलता है और हिंदुस्तान के लिए खून-पसीना बहाता है. जो इतने लंबे समय तक हिंदुस्तान के लिए खेलता आया है और मैच जिताता आया है, उसको किसी कम्युनिटी की वजह से कुछ बोलना बेहद शर्मनाक है. हम सब लोग मोहम्मद शमी और भारतीय टीम के साथ हैं.'
'अगर आप एक मैच हार जाएं और किसी इंडिविजुअल को टारगेट करें यह खराब बात है. जब आप फील्ड पर खेलने जाते हैं तो एक टीम जीतती है और एक टीम हारती है. यह कोई मौत और जीवन का सवाल नहीं है, इससे पहले पाकिस्तान 12 मैच हमसे हारा है. तो अगर 12 बार हारा है और एक बार भारत हार जाता है तो इस तरीके का रिएक्शन सही नहीं है. आप उन खिलाड़ियों को अपनी जगह पर रखें कि पहले तो मैच हारने का दुख और उसके बाद सोशल मीडिया पर इस तरीके का रिएक्शन सही नहीं है. सबसे ज्यादा जब टीम को आपके सपोर्ट की जरूरत है तब उनको हार में भी सपोर्ट करना चाहिए.'
'मूर्ख लोग पूरी दुनिया में है और मूर्ख लोगों का ना कोई देश है और ना कोई धर्म. अगर आप किसी खेल को इस्लाम के साथ जोड़ेंगे या किसी रिलीजन के साथ जोड़ेंगे तो यह आपकी मानसिकता दिखाता है. इन्हें कोई भी इंपॉर्टेंस देना बेकार है. हम पहला ही मैच हारे हैं, अभी पूरा टूर्नामेंट बाकी है. हमारे देश ने तीन वर्ल्ड कप जीते हैं और एक मैच हार गए तो इसका मतलब नहीं कि हम पूरा टूर्नामेंट हार गए.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta