खेल

दिल्ली कैपिटल्स और मुंबई इंडियंस का मुकाबला आज, जानें किसका पलड़ा है भारी

Renuka Sahu
21 May 2022 1:32 AM GMT
Delhi Capitals vs Mumbai Indians match today, know who has the upper hand
x

फाइल फोटो 

दिल्ली कैपिटल्स का भाग्य अब उसके ही हाथ में है जो आइपीएल के लगभग क्वार्टर फाइनल की तरह बने मुकाबले में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सभी क्षेत्रों में शानदार प्रदर्शन कर जीत दर्ज करना चाहेगी।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। दिल्ली कैपिटल्स का भाग्य अब उसके ही हाथ में है जो आइपीएल के लगभग क्वार्टर फाइनल की तरह बने मुकाबले में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सभी क्षेत्रों में शानदार प्रदर्शन कर जीत दर्ज करना चाहेगी।

कप्तान रिषभ पंत की टीम के लिए जहां यह मुकाबला बेहद महत्वपूर्ण है तो वहीं मुंबई सत्र का समापन जीत से करना चाहेगी। हालांकि, पांच बार की चैंपियन के लिए यह मायने नहीं रखेगा। सत्र में प्रबल दावेदार के रूप में उतरी मुंबई को नीलामी में खराब रणनीति का खामियाजा भुगतना पड़ा। इस मैच में सभी की दिलचस्पी होगी कि महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को आखिर में एक मैच मिलता है या नहीं, क्योंकि वह दो सत्र में 27 मैचों में बेंच पर ही बैठे रहे हैं। कप्तान रोहित शर्मा ने संकेत दिया था कि वे अंतिम मैच में कुछ नए चेहरों को उतारेंगे। अभी तक 13 मैचों में 22 खिलाड़ी खेल चुके हैं।
दिल्ली को शीर्ष चार में जगह बनाने के लिए मुंबई को हराने की जरूरत है, जिससे वह नेट रन रेट के कारण रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) से आगे हो जाएगी। मुंबई को इस सत्र में अपने सबसे बुरे दौर से गुजरना पड़ा है, जबकि दिल्ली अनिरंतर प्रदर्शन के कारण इस स्थिति में है। ऐसे भी दिन रहे जब दिल्ली ने बेहतरीन प्रदर्शन किया, जिसमें डेविड वार्नर (427 रन) या मिशेल मार्श (251 रन) या फिर रोवमैन पावेल (207 रन) ने बल्लेबाजी में कमाल दिखाया, जबकि स्पिनर कुलदीप यादव (20 विकेट), अक्षर पटेल (6 विकेट) और ललित यादव (4 विकेट) ने भी गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया।
हालांकि दिल्ली की टीम इस सत्र में दो विभाग में जूझती रही। पहला तेज गेंदबाजी विभाग, जिसमें खलील अहमद (16 विकेट) को छोड़ दें तो यह पूरे सत्र में उतार-चढ़ाव भरा रहा। शार्दुल ठाकुर ने अपने 13 विकेट के बावजूद नौ से अधिक प्रति ओवर रन लुटाए। दूसरा और सबसे महत्वपूर्ण कप्तान पंत (301 रन) का अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल पाना रहा। पर टूर्नामेंट के अंत में दिल्ली के लिए एक चीज कारगर रही, वो है मार्श की बल्लेबाजी फार्म। उनकी दो अर्धशतकीय पारियों से टीम उम्मीदें बरकरार रखने में कामयाब रही। मुस्तफिजुर रहमान (8 विकेट) ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन जिस संयोजन की जरूरत थी, उसके हिसाब से रिकी पोंटिंग उन्हें ज्यादा मैचों में अंतिम एकादश में शामिल नहीं कर सके। हालांकि पोंटिंग के लिए सरफराज खान की बतौर सलामी बल्लेबाज फार्म राहत की बात होगी।
जहां तक मुंबई का सवाल है तो इस सत्र के बारे में जितनी कम बात की जाए, उतना उनके लिए बेहतर होगा। एनटी तिलक वर्मा के स्टाइलिश बल्लेबाज के तौर पर उभरने के अलावा घरेलू टीम के बारे में बात करने के लिए और कुछ नहीं है। वह टिम डेविड के साथ मुंबई के अगले महान खिलाड़ी हो सकते हैं जिन्होंने कीरोन पोलार्ड की जगह को संभाला है।
टीमें :
मुंबई इंडियंस : रोहित शर्मा (कप्तान), अनमोलप्रीत सिंह, राहुल बुद्धि, रमनदीप सिंह, सूर्यकुमार यादव, तिलक वर्मा, टिम डेविड, अर्जुन तेंदुलकर, बासिल थंपी, ऋतिक शौकीन, जसप्रीत बुमराह, जयदेव उनादकट, मयंक मार्कंडे, मुरुगन अश्विन, रिले मेरेडिथ, टाइमल मिल्स, अरशद खान, डेनियल सैम्स, डेवाल्ड ब्रेविस, फैबियन एलन, कीरोन पोलार्ड, संजय यादव, आर्यन जुयाल और इशान किशन।
दिल्ली कैपिटल्स : रिषभ पंत (कप्तान), अश्विन हेब्बार, डेविड वार्नर, मनदीप सिंह, रोवमैन पोवेल, एनरिक नोत्र्जे, चेतन सकारिया, खलील अहमद, कुलदीप यादव, लुंगी नगिदी, मुस्तफिजुर रहमान, शार्दुल ठाकुर, अक्षर पटेल, कमलेश नागरकोटी , ललित यादव, मिशेल मार्श, प्रवीण दुबे, रिपल पटेल, सरफराज खान, विक्की ओस्टवाल, यश ढुल, केएस भरत और टिम सीफर्ट।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta