खेल

डेविड हसी ने बताया किन लोगों की वजह से केकेआर ने की आईपीएल में वापसी, मोर्गन और अय्यर को दिया क्रेडिट

Subhi
15 Oct 2021 1:59 AM GMT
डेविड हसी ने बताया किन लोगों की वजह से केकेआर ने की आईपीएल में वापसी, मोर्गन और अय्यर को दिया क्रेडिट
x
डियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के पहले फेज में किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) की टीम प्लेऑफ में भी जगह बना पाएगी।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के पहले फेज में किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) की टीम प्लेऑफ में भी जगह बना पाएगी। मई में भारत में खेले गए पहले फेज में केकेआर को सात मैचों में पांच में हार का सामना करना पड़ा था और टीम सातवें नंबर पर थी, लेकिन युनाइडेट अरब अमीरात (यूएई) में खेले जा रहे दूसरे फेज में केकेआर ने ऐसी वापसी की कि हर कोई दंग रह गया। इयोन मोर्गन की कप्तानी वाली इस टीम ने फाइनल का टिकट कटा लिया है और आज तीसरा खिताब जीतने के इरादे से चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) का सामना करने उतरेगी। दूसरे क्वॉलीफायर में दिल्ली कैपिटल्स को हराने के बाद टीम मेंटॉर डेविड हसी ने इस बदलाव का श्रेय कप्तान मोर्गन, सलामी बल्लेबाज वेंकटेश अय्यर और हेड कोच ब्रेंडन मैक्कलम को दिया।

हसी ने मैच के बाद कहा, 'आईपीएल में आयी रुकावट से जरूर हमें मदद मिली। लेकिन मोर्गन की कप्तानी भी बेहद अच्छी रही है। उन्होंने चतुराई से बॉलिंग में बदलाव किए और हमारी जीत का यह काफी बड़ा कारण रहा है। वेंकटेश तो एक शानदार खिलाड़ी हैं। वह लंबे हैं और मुझे तो लगता है कि वह पूर्व न्यूजीलैंड बल्लेबाज और चेन्नई सुपर किंग्स के वर्तमान कोच स्टीवन फ्लेमिंग के क्लोन हैं। मैक्कलम ने जो हासिल किया है वो अविश्वसनीय है। हम सातवें स्थान पर थे लेकिन उन्होंने सब कुछ बदल दिया। उन्होंने टीम को फिर से जीवित कर दिया है। सब में एक नई एनर्जी आ गई है। सब खुश हैं और चेहरों पर मुस्कान है। वह एक नम्र व्यक्ति हैं और इसका श्रेय नहीं लेंगे पर सच्चाई यही है।'
इन तीनों में अय्यर का योगदान सबसे आसानी से आंकड़ों में उतरता है और बुधवार को वह फिर से टीम के हीरो रहे। एक कठिन पिच पर उन्होंने सिर्फ 41 गेंदों पर 55 रन बनाए और एक स्थिर शुभमन गिल के साथ टीम को एक पेचीदा चेज में आगे बनाए रखा। लेकिन हसी ने कहा कि पहली गेंद पर कवर ड्राइव मार कर गिल ने डगआउट में आत्मविश्वास भर दिया था। हसी ने कहा, 'सबको मालूम है कि गिल तीनों फॉर्मेट में भारत के लिए 10 और साल खेलेंगे। सवाल बस इतना है कि वह कब तक अपनी जगह पक्की कर लेते हैं। वह अपने अंदाज से ही बाकी बल्लेबाजों को विश्वास दिला देते हैं। पहली गेंद को ही कवर बाउंड्री पर भेजकर उन्होंने ड्रेसिंग रूम और डगआउट दोनों में सबको आश्वस्त कर दिया था। वह एक कुशल और बुद्धिमान खिलाड़ी हैं। वह यहां से बतौर खिलाड़ी और बतौर इंसान कहां तक जाएंगे इस में मेरी काफी रुचि रहेगी।'


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it