खेल

अपने दो अधिकारियों की जांच करने जा रहा है क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका... लगा है नस्लीय भेदभाव के आरोप

Bharti sahu
20 Dec 2021 1:58 PM GMT
अपने दो अधिकारियों की जांच करने जा रहा है क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका... लगा है नस्लीय भेदभाव के आरोप
x
क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (CSA) ने सोमवार को घोषणा की कि वह सोशल जस्टिस और नेशनल बिल्डिंग (SJN) आयोग की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद वर्तमान डायरेक्टर ग्रीम स्मिथ और टीम के मुख्य कोच मार्क बाउचर के आचरण की औपचारिक जांच शुरू करेगा

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (CSA) ने सोमवार को घोषणा की कि वह सोशल जस्टिस और नेशनल बिल्डिंग (SJN) आयोग की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद वर्तमान डायरेक्टर ग्रीम स्मिथ और टीम के मुख्य कोच मार्क बाउचर के आचरण की औपचारिक जांच शुरू करेगा. एसजेएन आयोग के प्रमुख दुमिसा नटसेबेजा द्वारा प्रस्तुत 235 पन्नों की रिपोर्ट में पूर्व कप्तान और वर्तमान निदेशक स्मिथ और बाउचर के अलावा पूर्व बल्लेबाज एबी डिविलियर्स पर नस्लीय भेदभाव में लिप्त होने का आरोप लगाया गया है.

रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि तीनों ने राष्ट्रीय टीम में अश्वेत खिलाड़ियों का चयन नहीं कर उनके साथ भेदभाव किया. सीएसए ने जारी बयान में कहा, 'औपचारिक पूछताछ नए साल की शुरुआत में होगी. इसमें सीएसए के क्रिकेट डायरेक्टर ग्रीम स्मिथ (Graeme Smith) और टीम के कोच मार्क बाउचर (Mark Boucher) के आचरण को लेकर औपचारिक पूछताछ होगी. स्मिथ और बाउचर हालांकि अपने पद पर बने रहेंगे और भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते रहेंगे. क्रिकइंफाे की खबर के अनुसार, स्वतंत्र कानूनी प्रोफेशनल मामले की जांच करेंगे.
डिविलियर्स को लेकर कोई फैसला नहीं
सीएसए ने कहा कि रिपोर्ट पर और विचार करने के लिए उसकी शनिवार को बैठक हुई थी, लेकिन वह एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) के खिलाफ जांच पर चुप है. एसजेएन के लोकपाल की रिपोर्ट ने भेदभाव और नस्लवाद के आरोपों के संबंध में कई 'अस्थायी निष्कर्ष' निकाले है. सीएसए ने बताया कि लोकपाल के मुताबिक वह निश्चित निष्कर्ष देने की स्थिति में नहीं थे और उन्होंने सिफारिश की कि इस संबंध में एक और प्रक्रिया शुरू की जाए. बोर्ड ने कहा, 'सीएसए ने नस्लवाद या भेदभाव के आरोपों को अत्यंत गंभीरता से लिया है. बोर्ड दक्षिण अफ्रीका के श्रम कानून तथा संविधान के संदर्भ में निष्पक्षता और उचित प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए अपना कर्तव्य निभाएगा.'
उन्होंने कहा, 'सीएसए एसजेएन प्रक्रिया का सम्मान करता है और हम रिपोर्ट को विस्तार और समग्र तरीके से देख रहे हैं.' सीएसए बोर्ड के अध्यक्ष लॉसन नायडू ने कहा, 'हमने लोकपाल की सिफारिश का संज्ञान लिया है. इस मामले में सबूतों और साक्षयों की जांच के लिए एक और प्रक्रिया शुरू की जानी चाहिए. भारत और साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज 26 दिसंबर से शुरू हो रही है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta