खेल

बीसीसीआई ने घरेलू क्रिकेटरों को दिया नए साल का तोहफा, मिलेगा मुआवजा

jantaserishta.com
3 Jan 2022 4:14 AM GMT
बीसीसीआई ने घरेलू क्रिकेटरों को दिया नए साल का तोहफा, मिलेगा मुआवजा
x

नई दिल्ली: साल 2020 में जन्म लेने वाले कोरोना वायस ने दुनिया भर मे तबाही मचा रखा है. इस महामारी का खेलों पर भी काफी प्रभाव पड़ा और कई टूर्नामेंट्स कोविड-19 की भेंट चढ़ गए. भारतीय क्रिकेट का डोमेस्टिक सत्र भी इससे अछूता नहीं रहा और पिछले सीजन के रणजी ट्रॉफी को रद्द करना पड़ा था. अब बीसीसीआई ने घरेलू क्रिकेटरों को नए साल का तोहफा दिया है.

रिपोर्ट के मुताबिक 2020-21 सीजन के लिए पुरुष और महिला दोनों संघों द्वारा मान्यता प्राप्त नियमित घरेलू खिलाड़ियों को उनकी नियमित कमाई का 50% मुआवजा मिलेगा. बिल न मिलने की वजह से कई खिलाड़ियों का पैसा स्टेट बोर्ड्स की तरफ से जारी नहीं किया गया है. मामला सुलझने के बाद इन खिलाड़ियों को भी राशि आवंटित कर दी जाएगी.
कोविड-19 के चलते सीनियर पुरुष वर्ग के लिए आयोजित होने वाली रणजी ट्रॉफी 85 साल के इतिहास में पहली बार रद्द कर दी गई थी. दूसरी ओर, कोविड-19 की दूसरी लहर के चलते महिलाओं के लिए T20 टूर्नामेंट भी रद्द कर दिया गया था. भुगतान प्रक्रिया को लेकर प्रोसेस जारी है और मोहम्मद अजहरुद्दीन के नेतृत्व में सात सदस्यीय टीम इस पर काम कर रही है.
एक खिलाड़ी जिसने 2019-20 सीजन में आठ रणजी खेल खेले, उन्हें 35 हजार रुपए प्रति मैच दिन के हिसाब से 11.20 लाख रुपए मिले थे. हालांकि, मौजूदा मुआवजा प्रणाली के अनुसार अब उस खिलाड़ी को 2020-21 के लिए लगभग 5.10 लाख रुपए प्राप्त होंगे. एक खिलाड़ी, जिसने 2019-20 सीजन के कुछ मुकाबलों में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं बना पाया, उसे भी आनुपातिक आधार पर मुआवजा दिया जाएगा.
लंबे समय से लंबित मैच फीस का भुगतान नए रणजी ट्रॉफी सीजन की शुरुआत से ठीक पहले हो रहा है. गौरतलब है कि रणजी ट्रॉफी का आयोजन 13 जनवरी से लेकर 17 मार्च तक होना है. यह आयोजन सात स्थानों पर होंगे, लेकिन मुकाबलों का शेड्यूल जारी होना बाकी है. कोविड-19 के तीसरे लहर को देखते हुए इस टूर्नामेंट को रिशेड्यूल भी किया जा सकता है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta