खेल

टी20 इंटरनेशनल सीरीजों में आस्ट्रेलिया टीम के कमजोर प्रदर्शन के बावजूद बहुत अच्छी है : ग्लेन मैक्सवेल

Bharti
15 Sep 2021 7:37 AM GMT
टी20 इंटरनेशनल सीरीजों में आस्ट्रेलिया टीम के कमजोर प्रदर्शन के बावजूद बहुत अच्छी है :  ग्लेन मैक्सवेल
x
आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ग्लेन मैक्सवेल ने कहा है कि हाल की कुछ टी20 इंटरनेशनल सीरीजों में उनकी टीम के कमजोर प्रदर्शन के बावजूद टी20 विश्व कप के लिए चुनई गई टीम बहुत अच्छी है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ग्लेन मैक्सवेल ने कहा है कि हाल की कुछ टी20 इंटरनेशनल सीरीजों में उनकी टीम के कमजोर प्रदर्शन के बावजूद टी20 विश्व कप के लिए चुनई गई टीम बहुत अच्छी है। ग्लेन मैक्सवेल समेत पूरी टीम इस साल अक्टूबर-नवंबर में संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में होने वाले आइसीसी टी20 विश्व कप की प्रतीक्षा कर रही है। इसी वजह से कई आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आइपीएल नहीं खेल रहे।

T20 वर्ल्ड कप जीतने की आस्ट्रेलिया की संभावनाओं के लेकर ग्लेन मैक्सवेल ने कहा, "मेरा मानना है कि टीम बहुत अच्छी है। जब यह टीम एक साथ आएगी, तो हम किसी भी परिस्थिति से निकलकर अच्छी परिस्थिति में जा सकते हैं। हम इसी के बारे में देख रहे हैं।" स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर या पैट कमिंस जैसे किसी भी दिग्गज को आस्ट्रेलिया के लिए खेले हुए आठ महीने हो चुके हैं और ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस और केन रिचर्डसन भी 6 महीने से नहीं खेले हैं।
यहां तक कि कप्तान आरोन फिंच भी वेस्टइंडीज के खिलाफ चोटिल होने के बाद बांग्लादेश के खिलाफ नहीं खेल पाए थे। ऐसे में फार्म हासिल करना सभी के लिए चिंता की बात होगी। आइसीसी से बात करते हुए मैक्सवेल ने आगे कहा, "आप हमारे लाइनअप को देखें, हमारे पास मैच विजेताओं से भरी एक टीम है जो अपने दिन खेल को विपक्ष से दूर ले जा सकती है। मुझे लगता है कि हम ऐसा करने वाले हैं।"
उनका मानना है कि किसी भी दिन जब हमारे खिलाड़ियों के पास मैदान पर जाने और हमें एक गेम जीतने का मौका होता है और अगर हम इस मौके का फायदा उठा सकते हैं तो किसी के लिए भी हमें रोकना मुश्किल होगा। सात अनुभवी खिलाड़ियों के सेटअप में लौटने के साथ आस्ट्रेलिया बहुत मजबूत पक्ष होगा और अगर टीम को टूर्नामेंट में क्वालीफायर्स तक जाना है तो इनमें से कुछ खिलाड़ियों को बड़ी भूमिका निभानी होगी।
मैक्सवेल ने कहा है, "हमें रोकना किसी भी टीम के लिए कठिन होगा। टीमें जो टूर्नामेंट की शुरुआत में अच्छी शुरुआत कर सकती हैं, कुछ बल्लेबाजों को अच्छे फार्म में ला सकती हैं और कुछ गेंदबाजों को जल्दी विकेट मिल जाते हैं तो इसी से टीम आगे जाती है और यही सारी टीमों के लिए खिताब जीतने की कुंजी है। हम जानते हैं कि इस विश्व कप में कोई भी टीम कमजोर नहीं है। दोनों ही ग्रुप काफी कठिन हैं। ऐसे में हमारे लिए हर मैच मुश्किल भरा होने वाला है।" आस्ट्रेलियाई टीम अपना पहला मैच 23 अक्टूबर को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलेगी।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it