खेल

Asian Boxing Championship: पूजा रानी ने भारत को दिलाई पहला स्वर्ण पदक, एकतरफा अंदाज में जीता फाइनल

Kunti Dhruw
30 May 2021 6:39 PM GMT
Asian Boxing Championship: पूजा रानी ने भारत को दिलाई पहला स्वर्ण पदक, एकतरफा अंदाज में जीता फाइनल
x
एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप

एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप (Asian Boxing Championship) में भारत का पहले स्वर्ण पदक के लिए इंतजार खत्म हो गया. डिफेंडिंग चैंपियन पूजा रानी ने 81 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में उज्बेकिस्तान की बॉक्सर को करारी शिकस्त देकर न सिर्फ अपने खिताब की रक्षा की, बल्कि चैंपियनशिप में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया. वहीं पूजा के अलावा रविवार को भारत ने महिला वर्ग में दो रजत पदक भी अपने नाम किए. 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन दिग्गज बॉक्सर एमसी मैरी कॉम को फाइनल में हार मिली और रजत पदक से संतोष करना पड़ा. मैरी के अलावा लालबुतसाही और अनुपमा भी फाइनल में हार कर स्वर्ण पदक से चूक गईं.

दुबई में चल रही इस चैंपियनशिप के फाइनल में रविवार 30 मई को मैरी कॉम से स्वर्ण पदक की उम्मीद थी. मैरी भले ही इसमें चूक गई हों, लेकिन पूजा रानी ने कोई गलती नहीं की और भारत को गोल्ड दिला ही दिया. पूजा का टूर्नामेंट में ये पहला ही मैच था, क्योंकि फाइनल से पहले ही उन्हें बाई और वॉकओवर मिल गया था.

एकतरफा अंदाज में जीता स्वर्ण
टोक्यो ओलिंपिक के लिए 75 किलोग्राम भार वर्ग में पहले ही क्वालिफाई कर चुकीं पूजा ने फाइनल में दमदार प्रदर्शन किया. उन्होंने उज्बेकिस्तान की मावुलडा मोवलोनोवा को एकतरफा अंदाज में हराया. उज्बेक बॉक्सर के पास पूजा के मुक्कों का कोई जवाब नहीं था और जजों को भी फैसला 5-0 से पूजा के पक्ष में देने में कोई परेशानी नहीं हुई. इस तरह पूजा ने एशियन चैंपियनशिप में लगातार दूसरा स्वर्ण पदक जीत लिया. इसके साथ ही उन्हें 10,000 डॉलर की इनामी राशि मिली भी मिली.
छठें खिताब से चूकीं मैरी
वहीं भारत की सबसे अनुभवी और 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन एमसी मैरी कॉम (MC Mary Kom) को 51 किलो वर्ग में दो बार की वर्ल्ड चैंपियन कजाखस्तान की नाजिम किजाइबे ने 3-2 से हराकर स्वर्ण पदक जीत लिया. इस तरह मैरी एशियन चैंपियनशिप में अपना छठां स्वर्ण पदक जीतने से चूक गईं. उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा. मैरी के अलावा 64 किलो वर्ग में भारत की लालबुतसाही को कजाखस्तान की मिलाना एस के हाथों 2-3 से हार झेलनी पड़ी. लालबुतसाही ने भारत के लिए टूर्नामेंट का दूसरा रजत पदक जीता. महिलाओं के फाइनल में भारत की चौथी बॉक्सर अनुपमा भी गोल्ड जीतने में असफल रहीं. उन्हें 81 किलो वर्ग के फाइनल में कजाखस्तान की ही लज्जत कुन्जेबयेवा से 3-2 से हार झेलनी पड़ी. उन्हें भी सिल्वर मेडल मिला.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta