खेल

एशियाई खेलों से विनेश फोगाट की ट्रायल छूट को चुनौती देते हुए एंटीम फंगल ने उच्च न्यायालय का किया रुख

Kunti Dhruw
19 July 2023 4:00 AM GMT
एशियाई खेलों से विनेश फोगाट की ट्रायल छूट को चुनौती देते हुए एंटीम फंगल ने उच्च न्यायालय का किया रुख
x
स्टार भारतीय पहलवान बजरंग पुनिया और विनेश फोगट को राष्ट्रीय ट्रायल से छूट दे दी गई क्योंकि भारतीय कुश्ती महासंघ के संचालन की देखरेख करने वाले तदर्थ पैनल ने उन्हें सीधे योग्यता सौंपने का फैसला किया। इस घटनाक्रम से भारतीय कुश्ती समुदाय में रोष फैल गया और राष्ट्रीय प्रशिक्षकों ने तदर्थ पैनल के प्रति अपना असंतोष व्यक्त किया। एक और भारतीय पहलवान अब तदर्थ पैनल के फैसले को चुनौती देते हुए दिल्ली HC में चला गया है।
U20 विश्व चैंपियन ने फोगट की सीधी योग्यता को चुनौती देते हुए दिल्ली HC का रुख किया
U20 विश्व चैंपियन, एंटीम पंघाल, एशियाई खेलों 2023 के लिए विनेश फोगट की सीधी योग्यता के संबंध में अपना विवाद दिल्ली उच्च न्यायालय में ले गई हैं। खबरों के मुताबिक, पंघाल ने फोगाट को बिना किसी ट्रायल के 53 किग्रा वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करने की अनुमति देने के तदर्थ समिति के फैसले को चुनौती दी है। तदर्थ पैनल ने हाल ही में ट्रायल के लिए वजन श्रेणियों और पात्रता मानदंडों की घोषणा की, जिसमें महिलाओं के 53 किग्रा (विनेश) और पुरुषों के 65 किग्रा (बजरंग पुनिया) डिवीजनों के लिए पहलवानों के चयन का खुलासा किया गया।
इन भार वर्गों में ट्रायल के विजेताओं को एशियाई खेल 2023 टीम में स्टैंडबाय पर रखा जाएगा। डब्ल्यूएफआई की रिपोर्ट में कहा गया है, "सभी भार वर्गों का चयन अनिवार्य है, हालांकि, चयन समिति को मुख्य कोच/विदेशी विशेषज्ञ की सिफारिश के बिना ट्रायल के बिना ओलंपिक/विश्व चैंपियनशिप के पदक विजेताओं जैसे प्रतिष्ठित खिलाड़ियों का चयन करने का विवेकाधिकार होगा।"
यहां जानिए एंटीम पंघाल ने एड-हॉक पैनल के बारे में क्या कहा
इस बीच, एंटीम के निष्पक्ष सुनवाई चाहने की बात की पुष्टि उसके पिता ने की, क्योंकि बाद में उसने स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ बातचीत में अपने विचार प्रकट किए। “विनेश को सीधे प्रवेश देने का निर्णय अनुचित है। मैं एशियाई खेलों के लिए पिछले कई महीनों से कड़ी मेहनत कर रहा हूं। पंघाल ने कहा, हम तदर्थ पैनल के अधिकारियों से बात करेंगे, अगर वे निष्पक्ष खेल के लिए सहमत नहीं होते हैं, तो हम अदालत का दरवाजा खटखटा सकते हैं या धरना दे सकते हैं।
अंतिम पंघाल के लिए आगे क्या है?
पंघाल को U20 विश्व चैंपियनशिप में जीत हासिल करने वाली भारत की पहली महिला पहलवान के रूप में जाना जाता है। कुश्ती प्रेमी उत्सुकता से परिणाम का इंतजार कर रहे हैं, क्योंकि यह फैसला न केवल एंटीम पंघाल के लिए, बल्कि भारत में व्यापक कुश्ती समुदाय के लिए भी महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। एशियाई खेल 2023 23 सितंबर से चीन के हांगझू में शुरू होने वाले हैं।
Next Story