खेल

अहमदाबाद अगले साल की शुरुआत में इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान दिन-रात्रि टेस्ट की मेजबानी करेगा : सौरव गांगुली

Bharti
20 Oct 2020 1:12 PM GMT
अहमदाबाद अगले साल की शुरुआत में इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान दिन-रात्रि टेस्ट की मेजबानी करेगा : सौरव गांगुली
x
भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा किअहमदाबाद अगले साल की शुरुआत में इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान दिन-रात्रि टेस्ट की मेजबानी करेगा इंग्लैंड को अगले साल जनवरी से मार्च तक पांच टेस्ट और सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए भारत का दौरा करना है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा किअहमदाबाद अगले साल की शुरुआत में इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान दिन-रात्रि टेस्ट की मेजबानी करेगा इंग्लैंड को अगले साल जनवरी से मार्च तक पांच टेस्ट और सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए भारत का दौरा करना है। सीपीआई (एम) विधायक अशोक भट्टाचार्य की किताब का कोलकाता प्रेस क्लब में विमोचन करते हुए गांगुली ने कहा, 'दिन-रात्रि टेस्ट की मेजबानी अहमदाबाद करेगा।'

भारत में हाल में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए अटकलें लगाई जा रही हैं कि ये श्रृंखला यूएई में स्थानांतरित हो सकती है जहां अभी आईपीएल 2020 चल रहा है। बीसीसीआई हालांकि देश में ही इंग्लैंड की मेजबानी करने को लेकर प्रतिबद्ध है और पहले ही सभी विकल्पों पर विचार कर रहा है जिसमें जैविक रूप से सुरक्षित माहौल तैयार करना भी शामिल है। टेस्ट श्रृंखला के तीन संभावित स्थल अहमदाबाद, धर्मशाला और कोलकाता हो सकते हैं लेकिन गांगुली ने कहा कि उन्होंने अभी अंतिम फैसला नहीं किया है।

गांगुली ने कहा, 'हमने कुछ अस्थाई योजना बनाई है लेकिन अभी कोई फैसला नहीं किया गया है। हमारे पास अब भी चार महीने का समय है।' बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि उनकी प्राथमिकता आस्ट्रेलिया का आगामी दौरा है जिसके लिए टीम का चयन कुछ दिनों में होगा। उन्होंने कहा, 'इंग्लैंड से पहले आस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रृंखला होनी है। कुछ दिनों में इसके लिए टीम का चयन किया जाएगा।'

गांगुली ने कहा कि आईपीएल के तुरंत बाद खिलाड़ियों के लिए टेस्ट प्रारूप के अनुरूप ढलना समस्या नहीं होगी। उन्होंने कहा, 'वे सभी स्तरीय खिलाड़ी हैं, उन्हें कोई परेशानी नहीं होगी।' बीसीसीआई ने एक जनवरी से रणजी ट्रॉफी शुरू करने का फैसला किया है और गांगुली ने कहा कि आगामी वार्षिक आम बैठक में इसे लेकर चर्चा की जाएगी। इस किताब में कोरोना वायरस से उबरने वाले 71 साल के भट्टाचार्य ने इस घातक वायरस से निपटने के अपने अनुभव को साझा किया है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it