खेल

17 साल के खिलाड़ी ने ठोका दोहरा शतक, रणजी ट्रॉफी के प्री क्वार्टर फाइनल में रचा इतिहास

Tulsi Rao
14 March 2022 7:31 AM GMT
17 साल के खिलाड़ी ने ठोका दोहरा शतक, रणजी ट्रॉफी के प्री क्वार्टर फाइनल में रचा इतिहास
x
इस लिस्ट में अब 17 साल के खिलाड़ी का नाम भी जुड़ गया है. और कारनामा जान के तो आप सब हैरान रह जाएंगे.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। टीम इंडिया के भविष्य की जब भी बात आती है तो सभी की नजर रणजी ट्रॉफी पर जाती है. ये वो जगह है जहां से भारत को फ्यूचर के सितारे मिलते हैं. इन सब के बीच रणजी ट्रॉफी में एक और रिकॉर्ड तोड़ पारी देखने का मिली है. छोटा पैकेट बड़ा धमाका ये तो आपने सुना ही होगा लेकिन हम आज आपको दिखाएंगे भी. रणजी ट्रॉफी में झारखंड की धरती से एक-एक करके कई युवा क्रिकेट खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट में आ रहे हैं और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना रहे हैं. इस लिस्ट में अब 17 साल के खिलाड़ी का नाम भी जुड़ गया है. और कारनामा जान के तो आप सब हैरान रह जाएंगे.

17 साल के युवा बल्लेबाज का धमाल
झारखंड के 17 वर्षीय युवा बल्लेबाज कुमार कुशाग्र ने भारतीय क्रिकेट में सनसनी मचा दी है. कुमार कुशाग्र ने रणजी ट्रॉफी के प्री क्वार्टर फाइनल में नागालैंड के खिलाफ धमाकेदार दोहरा शतक जड़ अपने नाम बड़ी उपलब्धि दर्ज कर ली है. कुमार कुशाग्र ने प्रिलिमनरी क्वार्टर फाइनल में 266 रन की पारी खेलकर इतिहास रच दिया. वो प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे कम उम्र में 250 रन से ज्यादा की पारी खेलने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. कुशाग्र ने 269 गेंदों पर 266 रन की पारी खेली, जिसमें 37 चौके और 2 छक्के शामिल थे.
जावेद मियांदाद को भी पछाड़ा
अपना तीसरा फर्स्ट क्लास मैच खेल रहे दाएं हाथ के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद और भारत के ईशान किशन के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ दिया. उन्होंने जावेद मियांदाद के 47 साल पुराने वर्ल्ड रिकॉर्ड को अपने नाम कर लिया. मियांदाद ने साल 1975 में 17 साल 311 दिन की उम्र में कराची किंग्स की और से खेलते हुए नेशनल बैंक के खिलाफ 200 से ज्यादा रन बनाए थे. लेकिन कुशाग्र ने यह उपलब्धि 17 साल और 141 दिन की उम्र में हासिल कर ली. विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन ने 18 साल 111 दिन की उम्र में इस रिकॉर्ड को हासिल किया था.
बीसीसीआई ने ट्वीट कर दी बधाई
झारखंड के लिए भी बनाया रिकॉर्ड
झारखंड के लिए कुमार कुशाग्र ने ये दूसरी सबसे बड़ी पारी खेली है. रणजी ट्रॉफी में झारखंड के लिए सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन के नाम दर्ज है. ईशान ने 2016 में दिल्ली के खिलाफ 273 रन की पारी खेली थी, इसके बाद कुशाग्र का नंबर आता है. कुशाग्र साल 2019 में वीनू मांकड़ ट्रॉफी में सबसे पहले चर्चा में आए थे. उन्होंने उस दौरान 7 मैचों में सबसे ज्यादा 535 रन बनाए थे. कुमार कुशाग्र भी ईशान किशन की तरह विकेटकीपर बल्लेबाज हैं.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta