विज्ञान

चीन के एक गांव में बने रहस्य पंजे के निशान को देख 5 साल के बच्चे ने बताया यह पंजे हैं 13 करोड़ साल पुराने डायनोसॉर के

Janta Se Rishta Admin
14 Oct 2020 3:17 PM GMT
चीन के एक गांव में बने रहस्य पंजे के निशान को देख 5 साल के बच्चे ने बताया यह पंजे हैं 13 करोड़ साल पुराने डायनोसॉर के
x
ये पंजे के निशान काफी वक्त से वहां थे लेकिन सिर्फ यान्ग समझ सके कि ये डानॉसोर के हो सकते हैं

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। चीन में एक पांच साल के लड़के ने 13 करोड़ साल पुराने डायनोसॉर के पंजे के निशान की खोज की है। यान्ग झेरुई अपने परिवार के साथ गांव में ट्रिप पर गए थे, जब उन्होंने यह खोज की। एक वैज्ञानिक ने बाद में यान्ग की खोज की पुष्टि भी की। ये पंजे के निशान काफी वक्त से वहां थे लेकिन सिर्फ यान्ग समझ सके कि ये डानॉसोर के हो सकते हैं। उन्होंने अपने पैरंट्स से सिचुाइन में उन पंजों के निशान को दिखाने के लिए कहा था जिन्हें अब तक पहचाना नहीं जा सका था।


प्रोफेसर ने की पुष्टि

यान्ग ने अपनी मां से बताया कि ये पक्षियों जैसे डायनोसॉर के निशान हो सकते हैं। यान्ग का दावा सुनकर उनके पैरंट्स ने डायनोसॉर विशेषज्ञ शिंग लीडा से संपर्क किया। शिंग चीन की यूनिवर्सिटी ऑफ जियोसाइंसेज में डेप्युटी प्रफेसर हैं। शिंग ने इसके बारे में मीडिया को जानकारी दी कि ये प्रिंट पक्षियों जैसे दिखने वाले Theropods के हैं। ये निशान Cretaceous काल में करीब 13 करोड़ साल पुराने होंगे।


गांववालों के लिए था रहस्य

यान्ग को साइंस और खासकर डायनोसॉर के बारे में पढ़ना अच्छा लगता है। इस महीने की शुरुआत में वह अपने पैरंट्स के साथ बाझॉन्ग गए थे। इस दौरान जब उन्हें 'चिकन जैसे पैरों' के निशान के बारे में पता चला तो उन्होंने वहां जाने के लिए कहा। बहुत वक्त से ये निशान गांववालों के लिए रहस्य का कारण बने थे। एक पत्थर पर पैरों के निशान देखने के बाद यान्ग ने बताया कि यह जीव Theropod हो सकता है।


जारी रहेगी रिसर्च

यान्ग की मां ने निशान की तस्वीरें लीं और शिंग से चीन के ट्विटर, Weibo के जरिए संपर्क किया। शिंग अपनी टीम के साथ बाझॉन्ग पहुंचे और निशान के Theropod के होने की पुष्टि की। उन्होंने दावा किया कि सिचुआन बेसिन में मिलने वाले Cretaceous काल के डायनोसॉर के पहले निशान थे। यह काल 14.5 से 6.6 करोड़ साल पहले तक रहा होगा। शिंग ने कहा है कि वह और उनकी टीम अब इन निशानों को स्टडी करेगी।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it