विज्ञान

जानें, जून में ग्रह का त्रिकोण योग

Rani Sahu
18 Jun 2021 6:34 PM GMT
जानें, जून में ग्रह का त्रिकोण योग
x
जून महीना में उपद्रवकारी, विध्वंसकारी और प्राकृतिक आपदाओं के संकेत म‍िल रहे हैं

जून महीना में उपद्रवकारी, विध्वंसकारी और प्राकृतिक आपदाओं के संकेत म‍िल रहे हैं। सूर्य के मिथुन राशि में प्रवेश के साथ ही लग्न में त्रिकोण योग बन गया है। लग्न से द्वितीय स्थान पर शुक्र एवं मंगल और लग्न से 12 वें स्थान पर बुध-राहु और उस त्रिकोण में शनि-मंगल का दृष्टि संबंध 15 जून से 15 जुलाई तक विशेष उपद्रवकारी, विध्वंस कारी और प्राकृतिक घटनाओं के चक्र को प्रेरित करेगा। सूर्य के दाएं-बाएं मंगल और राहु का योग राजनीति में अकल्पित उलटफेर कराने के संकेत दे रहा है। कई राज्यों के छत्रभंग अथवा राजनीतिक पार्टियों में असंतोष, मंत्रिमंडल में उलटफेर या इसी प्रकार के अन्य कार्य होने के संकेत हैं। असंतुष्ट सदस्य अपनी पार्टी में विद्रोह कर सकते हैं।

राजनीतिक उलटफेर के साथ-साथ तथाकथित राजनेता समाज में विष घोलने का प्रयास करेंगे जिससे अराजक तत्व सक्रिय होकर जनधन की हानि भी कर सकते हैं। यह योग 15 जून से और 15 जुलाई तक विशेष प्रभावी है। शास्त्रों में एक दोहा आता है: आगे-पीछे बहुत ग्रह, रवि के भौम अगार। राजनीति में द्वंद हो, होवे बड़ा अनाचार।। अर्थात जब सूर्य के दाएं-बाएं मंगल सहित कई ग्रह हों अर्थात त्रिकोण योग बने तो राजनीति में बहुत द्वंद, उलटफेर, विद्रोह होने की संभावना होती है। प्रजा में अनाचार बढ़ता है और प्रकृति भी अपना विराट स्वरूप दिखाती है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta