विज्ञान

Jeff Bezos ने यूं रचा इतिहास, तस्वीरों से जानिए सफर की कहानी

Gulabi
21 July 2021 3:04 PM GMT
Jeff Bezos ने यूं रचा इतिहास, तस्वीरों से जानिए सफर की कहानी
x
अमेजॉन के संस्थापक जेफ बेजोस ने अपने रॉकेट से अंतरिक्ष की यात्रा पूरी कर इतिहास रच दिया है

फ्लोरिडा: अमेजॉन (Amazon) के संस्थापक जेफ बेजोस (Jeff Bezos) ने अपने रॉकेट से अंतरिक्ष की यात्रा (Space Trip) पूरी कर इतिहास रच दिया है. कुल दस मिनट की उड़ान के बाद रेगिस्तान में कैप्सूल के जरिए लौटे बेजोस ने इसे अपनी जिंदगी का सबसे बेहतरीन दिन बताया है. वहीं बेजोस ने इस कामयाबी के लिए अपनी कंपनी के कर्मचारियों और ग्राहकों का धन्यवाद कहा है. बेजोस की कंपनी ब्लू ऑरिजन (Blue Origin) के बैनर तले आयोजित इस सफर को उन्होंने कैसे पूरा किया आइये तस्वीरों के जरिए बताते हैं.

ब्लू ओरिजिन (Blue Origin) ने 20 जुलाई 2021 को पहली ह्यूमन स्पेस फ्लाइट का सफर पूरा करते हुए नया इतिहास रच दिया. Blue Origin ने न्यू शेफर्ड (New Shepard) कैप्सूल से चार निजी यात्रियों को अंतरिक्ष की सैर (Space Trip) कराई.

यात्रियों में जेफ बेजोस (Jeff Bezos) उनके भाई मार्क बेजोस, वैली फंक और ओलिवर डैमेन शामिल थे जिन्होंनें 100 किलोमीटर ऊपर कारमान लाइन (Karman Line) को पार किया. आपको बता दें कि अंतरिक्ष की सीमा की शुरुआत इसी बाउंड्री को पार करने पर होती है. कैप्सूल में बैठने के बाद सभी को दोबारा यात्रा संबंधी नियमों की जानकारी दी गई. इस स्पेस ट्रिप को सबसे अनुभवी महिला पायलट के साथ पूरा किया गया.

कैप्सूल का रॉकेट सभी को 3,595 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से Space की ओर गया. करीब चार मिनट अंतरिक्ष में जीरो ग्रैविटी का आनंद लेने के बाद यह धरती की तरफ लौटा. उससे पहले सभी ने भारहीनता यानी जीरो ग्रेविटी का मजा लिया. कैप्सूल के अंदर वो ऐसे उड़ रहे थे जैसे उनके शरीर का वजन खत्म हो गया है.

जीरो ग्रैविटी फील कराने के बाद न्यू शेफर्ड कैप्सूल ने धरती की ओर लौटना शुरू किया. पैराशूट खुलने से पहले कैप्सूल की गति 26 किलोमीटर प्रति घंटा थी, पैराशूट खुलने के बाद इसकी गति कम होकर 1.6 किलोमीटर प्रति घंटा हो गई थी. इस बीच रॉकेट बूस्टर ने लैंडिंग साइट पर सुरक्षित लैंडिंग की यानी पैराशूट के साथ सभी की सुरक्षित वापसी हुई.

सफर पूरा होने के बाद सभी ने ईश्वर को धन्यवाद दिया वहीं सुरक्षित वापसी के बाद वैली फंक ने कैप्सूल से बाहर आते ही अपने हाथों को फैलाकर खुशी जाहिर की. बाद में उन्होंने यह कहा भी कि उनका 60 साल पुराना सपना पूरा हो गया.
क्रू की लॉन्चिंग और लैंडिंग पूरी तरह ऑटोमैटिक थी. यानी किसी भी अंतरिक्षयात्री को किसी भी तरह के कंसोल पर कोई काम नहीं करना पड़ा. ये पहला मौका था जब Space Trip पर रवाना हुई फ्लाइट ने एक साथ कई इतिहास रच दिए.

ओरिजिन के सीईओ बॉब स्मिथ ने कहा कि इंसानों के अंतरिक्ष उड़ान के लिए यह एक ऐतिहासिक दिन है. इस साल दो और उड़ानें अंतरिक्ष यात्रा पर भेजी जाएंगी. जिसके टिकट की जानकारी ब्लू ओरिजिन की साइट और ट्विटर हैंडल पर दी जाएगी.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta