विज्ञान

क्या वैक्सीनेशन के बाद पीरियड्स में देरी है टेंपरेरी? अमेरिकी महिलाओं पर हुई रिसर्च

Gulabi
15 Jan 2022 9:47 AM GMT
क्या वैक्सीनेशन के बाद पीरियड्स में देरी है टेंपरेरी? अमेरिकी महिलाओं पर हुई रिसर्च
x
अमेरिकी महिलाओं पर हुई रिसर्च
अगर कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद आपके पीरियड्स लेट आने लगे हैं, तो आप अकेली नहीं हैं। आप जैसी बहुत सारी महिलाएं इस स्थिति का सामना कर रही हैं। माहवारी और वैक्सीन के इस कनेक्शन को समझने के लिए हाल ही में अमेरिका के ओरेगन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी ने एक रिसर्च भी की है। वैज्ञानिकों के अनुसार, वैक्सीनेशन के बाद ऐसा होना बिलकुल नॉर्मल है। इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं है।
अमेरिकी महिलाओं पर हुई रिसर्च
वैज्ञानिकों ने एक फर्टिलिटी ट्रैकिंग ऐप के जरिए अमेरिकी महिलाओं के डेटा को स्टडी किया। इन महिलाओं की उम्र 18 से 45 वर्ष थी। ये न तो गर्भनिरोधक दवाओं का इस्तेमाल कर रही थीं और न ही प्रेग्नेंट थीं।
रिसर्च में शामिल 2,403 महिलाओं में से 55% को फाइजर वैक्सीन, 35% को मॉडर्ना वैक्सीन और 7% को जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन लगाई गई। इनके अलावा, लगभग 1,556 महिलाएं ऐसी भी थीं जिन्हें वैक्सीन नहीं लगाई गई।
रिसर्च के दौरान महिलाओं के वैक्सीनेशन के पहले और बाद के 3-3 पीरियड साइकिल फॉलो किए गए। इसी दौरान अनवैक्सीनेटेड ग्रुप के 6 पीरियड साइकिल को भी फॉलो किया गया।
वैक्सीनेशन के बाद पीरियड्स में देरी है टेंपरेरी
वैज्ञानिकों ने पाया कि पहली वैक्सीन लगने के बाद महिलाओं का पीरियड 0.64 दिन लेट आया। वहीं दूसरी वैक्सीन लगने पर पीरियड 0.79 दिन लेट हुआ। जिन महिलाओं को वैक्सीन नहीं लगी थी, उनका पीरियड उनके नॉर्मल समय पर ही आया। वैक्सीनेटेड ग्रुप में 358 महिलाएं ऐसी भी थीं, जिनके पीरियड साइकिल की अवधी 2.38 दिन बढ़ गई।
रिसर्चर्स के अनुसार, 6वीं पीरियड साइकिल तक वैक्सीनेटेड और अनवैक्सीनेटेड महिलाओं के पीरियड्स के बीच का अंतर गायब हो गया था। इसका मतलब, वैक्सीन लगवाने के बाद माहवारी में बदलाव होना टेंपरेरी है।
वैक्सीनेशन के बाद क्यों होता है पीरियड में बदलाव?
वैज्ञानिकों का कहना है कि वैक्सीन लगने के बाद माहवारी में देरी क्यों होती है, इसकी कोई ठोस वजह नहीं है। उनके अनुसार, वैक्सीन से हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता है, जिसका सीधा असर महिलाओं के हारमोन रेगुलेट करने वाले सिस्टम पर पड़ सकता है। इसके अलावा, कोरोना महामारी के समय होने वाला स्ट्रेस भी इसका एक कारण हो सकता है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it