विज्ञान

भारतीय सेना में बीते दिनों स्वदेशी निर्मित पृथ्वी में 2 मिसाइल का सफल किया परीक्षण

Triveni
12 Oct 2020 1:13 PM GMT
भारतीय सेना में बीते दिनों स्वदेशी निर्मित पृथ्वी में 2 मिसाइल का सफल किया परीक्षण
x
भारत ने 35 दिनों के अंदर 10 हथियारों को हासिल किया है और उनका सफल परीक्षण भी किया है. बता दें कि ये हथियार चीन और पाकिस्तान के लिए खतरा साबित हो सकते हैं.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क| भारत ने 35 दिनों के अंदर 10 हथियारों को हासिल किया है और उनका सफल परीक्षण भी किया है. बता दें कि ये हथियार चीन और पाकिस्तान के लिए खतरा साबित हो सकते हैं. बता दें कि रक्षाक्षेत्र में बनाए गए ये हथियार स्वदेशी हैं. ये मिसाइल DRDO द्वारा ये 10 मिसाइल पिछले 35 दिनों में बनाकर रिकॉर्ड कायम कर दिया है. DRDO द्वारा कई घातक मिसाइलों को अपग्रेड किया गया है. ब्रह्मोस की रेंज को 290 किमी से बढ़ाकर 400 किमी तक कर दिया गया है. ऐसी संभावना है कि भारत में ऐशसी कई और मिसाइलों का परीक्षण किया जा सकता है.

बता दें कि इन मिसाइलों का परीक्षण भारत अपने पड़ोसियों के मद्देनजर कर रहा है. ऐशे में भारतीय सेना में बीते दिनों स्वदेशी निर्मित पृथ्वी 2 मिसाइल का सफल परीक्षण किया था. यह मिसाइल 350 किमी दूर दुश्मन को ढेर करने की क्षमता रखता है. यह मिसाइल एटॉमिक वॉरहेड भी अपने साथ ले जाने में सक्ष्म है. वहीं टैक से दागी जाने वाली मिसाइल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का भी सफल परीक्षण किया गया था. इस मिसाइल को अर्जुन टैंक के जरिए फायर किया था. इस मिसाइल ने तीन किमी दूर स्थित टारगेट को भी ध्वस्त कर दिया था. यह बख्तरबंद टैंकों को निशाना बनाने में सक्ष्म है.

DRDO द्वारा 22 सितंबर को स्वदेशी हाई-स्पीड टारगेट ड्रोन अभ्यास का भी सफल परीक्षण किया गया था. अभ्यास एक हाई-स्पीड ड्रोन है. यह अपने साथ हथियार कैरी कर सकता है व दुश्मनों को ठिकाने लगा सकता है. वहीं 7 सितंबर को हाइपर सोनिक टेक्नोलोजी डेमोन्सट्रेटर व्हीकल (Hyper sonic Technology Demonstrator Vehicle) का निर्माण किया गया था. इसका इस्तेमाल हाईपर सोनिक और क्रूज मिसाइल को लॉन्च करने के लिए किया जाएगा

5 अक्टूबर को DRDO ने मिसाइल टारपीडो सिस्टम सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलीज ऑप टॉरपीडो का सफल परीक्षण किया था. सुपरसॉनिक रफ्तार से यह टॉरपीडो पंडुब्बी पर हमला कर सकता है. बता दें कि भारत में एक के बाद एक ऐसे कई हथियार बीते कुछ ही दिनों में बनाए गए हैं, जिससे हर कोई सकते में हैं. क्योंकि DRDO ने अपने कामों में तेजी दिखाते हुए एक के बाद एक कई हथियारों का सफल परीक्षण कर चीन और पाकिस्तान को भौंचक्का कर दिया है.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it