Top
धर्म-अध्यात्म

चैत्र मास में कब है राम नवमी, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

Ritu Yadav
8 April 2021 8:29 AM GMT
चैत्र मास में कब है राम नवमी,  जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि
x
राम नवमी का पर्व चैत्र मास में मनाया जाता है. पंचांग के अनुसार राम नवमी का पर्व 21 अप्रैल 2021 को मनाया जाएगा.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क| राम नवमी का पर्व चैत्र मास में मनाया जाता है. पंचांग के अनुसार राम नवमी का पर्व 21 अप्रैल 2021 को मनाया जाएगा. इस दिन चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि है. इस तिथि का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है. मान्यता है कि भगवान राम का जन्म चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को हुआ था. इसीलिए इस तिथि को राम नवमी कहा जाता है. इस दिन घर घर भगवान राम का जन्मोत्सव मनाया जाता है.

राम नवमी के दिन प्रभु श्रीराम की विशेष पूजा की जाती है. भगवान राम की स्तुति की जाती है. इस दिन विधि पूर्वक भगवान राम की पूजा करने से जीवन में आनी वाली परेशानियां दूर होती हैं और भगवान राम की कृपा प्राप्त होती है. पंचांग के अनुसार नवमी की तिथि का प्रारंभ 21 अप्रैल 2021 को रात 00:43 मिनट से हो रहा है. नवमी की तिथि का समापन 22 अप्रैल को रात्रि 00:35 मिनट पर होगा.
राम नवमी पूजा का शुभ मुहूर्त
राम नवमी पर पंचांग के अनुसार पूजा का मुहूर्त 21 अप्रैल को सुबह 11 बजकर 02 मिनट से दोपहर 01 बजकर 38 मिनट तक बना हुआ है. पूजा मुहूर्त की अवधि 02 घंटे 36 मिनट की है.
राम नवमी पूजा विधि
रामन नवमी का पर्व विशेष माना गया है. इसलिए इस दिन पूजा में नियमों का विशेष ध्यान रखें. 21 अप्रैल को प्रात: काल सूर्य निकलने से पूर्व उठना चाहिए और स्नान करने के बाद व्रत और पूजा की क्रिया आरंभ करनी चाहिए. मंदिर में भगवान की मूर्ति के सामने घी का दीपक जलाएं. सभी देवी देवताओं का स्मरण करना चाहिए और आर्शीवाद प्राप्त करना चाहिए. भगवान राम को पुष्प अर्पित कर मिष्ठान और फल का भोग लगाना चाहिए. पूजा समाप्त करने से पूर्व आरती करें.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it