धर्म-अध्यात्म

आज महाशिवरात्रि पर शिवजी मे अर्पित करे ये चीज

Neha Yadav
11 March 2021 2:01 AM GMT
आज महाशिवरात्रि पर शिवजी मे अर्पित करे ये चीज
x
आज महाशिवरात्रि है और आज का दिन भोलेनाथ को समर्पित है। आज के दिन महादेव को प्रसन्न करना बेहद आसान है।

आज महाशिवरात्रि है और आज का दिन भोलेनाथ को समर्पित है। आज के दिन महादेव को प्रसन्न करना बेहद आसान है। अगर पूरे श्रद्धा भाव के साथ भक्त भोलेनाथ की पूजा करे तो भगवान शिव को अत्यंत प्रसन्न हो जाते हैं और भक्त की हर मनोकामना को पूरा करते हैं। इसके साथ ही अगर शिवजी की पूजा करते समय कुछ चीजों को अर्पित किया जाए तो यह बेहद शुभ होता है। तो आइए जानते हैं महाशिवरात्रि पर शिवजी को क्या-क्या अर्पित करना बेहद शुभ माना जाता है।

जल: यह तो हम सभी जानते हैं कि शिवजी का अभिषेक जल से भी किया जाता है। जब समुद्र मंथन हुआ था तब शिवजी ने विषपान किया था। इस दौरान सभी देवी-देवताओं ने शिवजी को जल अर्पित किया था। इससे उन्हें शीतलता प्राप्त हुई थी। यही कारण है कि शिवजी को जल अर्पित किया जाता है।
बेलपत्र: यह शिवजी को बेहद प्रिय है क्योंकि इसे भोलेनाथ के तीन नेत्रों का प्रतीक माना गया है।
आंकड़ा: इसके फल को शिवजी पर चढ़ाने से भक्त को सोने के दान के बराबर फल प्राप्त होता है। यह हजार गुना पुण्यदायी है।
धतूरा: देवी भागवत पुराण के अनुसार, जब समुद्र मंथन के दौरान शिवजी ने विषपान किया था तब उनकी व्याकुलता अश्विनी कुमारों ने भांग, धतूरा, बेल आदि से ही दूर की थी।
भांग: शिवजी को भांग बेहद प्रिय है। ऐसे में इन्हें भांग अर्पित करना बेहद शुभ माना जाता है।
कर्पूर: भोलेनाथ को कपूर की महक बेहद प्रिय है। ऐसे में कूपर को शिवजी को अर्पित करना चाहिए।
दूध: शिवजी का अभिषेक अगर दूध से किया जाए तो वे बेहद प्रसन्न हो जाते हैं।
चावल: इन्हें अक्षत कहा जाता है। इनका इस्तेमाल शिव पूजा के दौरान जरुर करना चाहिए। इसके बिना पूजा अधूरी मानी जाती है।
चंदन: अगर भोलेनाथ को चंदन अर्पित किया जाए तो व्यक्ति को समाज में मान-सम्मान और यश की प्राप्ति होती है।
भस्म: यह तो हम सभी जानते हैं कि शिवजी के शरीर पर भस्म लगी होती है। वह भस्म रमाए घूमते हैं। उन्हें भस्म बेहद प्रिय है। ऐसे में शिवजी को भस्म अवश्य चढ़ाई जानी चाहिए।
रुद्राक्ष: यह महादेव को अत्यंत प्रिय हैं। बिना रुद्राक्ष महादेव नहीं रहते हैं। इन्हें धारण करने से व्यक्ति के दुख दूर हो जाते हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta