धर्म-अध्यात्म

हनुमान जी के ये पाठ भी हैं बड़े चमत्कारी, नियमानुसार पढ़ने से सभी कष्ट हर लेते हैं बजरंगबली

Subhi
24 Aug 2022 3:01 AM GMT
हनुमान जी के ये पाठ भी हैं बड़े चमत्कारी, नियमानुसार पढ़ने से सभी कष्ट हर लेते हैं बजरंगबली
x
हनुमान जी को संकटमोचन के नाम से भी जाना जाता है. मान्यता है कि वे सच्ची भक्ती से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं. हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए अक्सर लोग हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं.

हनुमान जी को संकटमोचन के नाम से भी जाना जाता है. मान्यता है कि वे सच्ची भक्ती से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं. हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए अक्सर लोग हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं. लेकिन कई अन्य पाठ भी हैं, जिनका पाठ करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं सिद्ध होती हैं. जानें इन पाठ को करने के निमय.

हनुमान चालीसा

धार्मिक मान्यता है कि सुबह-शाम नियमित हनुमान चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति को कई बंधक नहीं बना सकता. जीवन में सुख-शांति पाना चाहते हैं, तो मंगलवार व शनिवार को हनुमान मंदिर में जाकर गुड़ और चना अर्पित करें. घर पर सुबह-शाम हनुमान चालीसा का पाठ करें. बता दें कि पाठ शुरू करने से आधा घंटा पहले और आधा घंटा बाद में किसी से बात न करें. 21 दिन पूरे होने पर हनुमान जी को चोला अर्पित करें. इससे घर में सुख-शांति आती है.

बजरंग बाण

कई बार लोगों का स्वभाव और वाणी उनके शत्रुओं को बढ़ाती है. ऐसे में इस तरह के लोग आपकी तरक्की, सफलता से जलते हैं. आपके विरुद्ध षड्यंत्र रचते हैं. ऐसे में बुरे समय से बचने के लिए श्री बजरंग बाण का पाठ व्यक्ति की शत्रुओं से रक्षा करता है. बजरंग बाण का पाठ व्यक्ति को एक जगह बैठकर 21 दिन करना चाहिए. इतना ही नहीं, इस पाठ का जाप करते समय सच्चाई के मार्ग पर चलने का संकल्प लेना चाहिए.

हनुमान बाहुक

रोगों से मुक्ति के लिए हनुमान बाहुक का पाठ बेहद चमत्कारी है. अगर आपको गठिया, वात, सिरदर्द, कंठ रोग और जोड़ों के दर्द की समस्या है, तो एक पात्र में जल लेकर हनुमान बाहुक का 26 या 21 दिन तक पाठ करें. पात्र में रखा जल नियमित रूप से पी लें और दूसरे दिन स्वस्थ जल लें. ऐसा करने से शरीर के सभी रोगों से मुक्ति मिल जाती है.

हनुमान मंत्र

भूत-प्रेत या अंधेरे से डरने वाले लोग रात को सोने से पहले हाथ-पैर और कान-नाक धोकर हं हनुमते नमः का पूर्वाभिमुख होकर 108 बार जप करें और इसके बाद ही सोएं.

शाबर मंत्र

इस मंत्र को बहुत ही सिद्ध मंत्र माना जाता है. मान्यता है कि इस मंत्र के जाप से हनुमान जी जल्द ही भक्तों के मन की बात सुन लेते हैं. लेकिन इस मंत्र का जाप पवित्र व्यक्ति ही करें. मान्यता है कि ये मंत्र जीवन से संकटों और कष्टों को तुरंत ही चमत्कारिक रूप से समाप्त कर देता है. बता दें कि हनुमान जी के कई शाबर मंत्र हैं. अलग-अलग कार्यों के लिए हैं अलग-अलग मंत्र का जाप किया जाता है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta