धर्म-अध्यात्म

जीवन में इन बातों का रखें खास ख्याल, भूलकर भी न करें इन चीजो का दान

Mahima Marko
19 Dec 2021 4:34 AM GMT
जीवन में इन बातों का रखें खास ख्याल, भूलकर भी न करें इन चीजो का दान
x
हिंदू धर्म शास्त्रों में दान को सबसे बड़ा पुण्य कर्म माना गया है। दान देने से न केवल ग्रहों की पीड़ा शांत होती है,

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। हिंदू धर्म शास्त्रों में दान को सबसे बड़ा पुण्य कर्म माना गया है। दान देने से न केवल ग्रहों की पीड़ा शांत होती है, बल्कि देवी-देवता भी प्रसन्न होते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ग्रहों से संबंधित वस्तुओं का दान कभी-कभी उल्टा असर भी डाल सकता है। जी हां, यह सच है यदि कुछ विशेष ग्रह परिस्थितियों में आपने उनसे संबंधित चीजों का दान कर दिया तो लाभ होने की बजाय हानि होने लगती है।

इन चीजों का ना दें दान:
गुड़, आटा, गेहूं, तांबा: सूर्य मेष राशि में होने पर उच्च का तथा सिंह राशि में होने पर स्वराशि का होता है। यदि किसी जातक की कुंडली में सूर्य इन्हीं दो राशियों में से किसी एक में हो तो उसे लाल या गुलाबी रंग के पदार्थों का दान नहीं करना चाहिए।
मीठे खाद्य पदार्थ: मंगल मेष या वृश्चिक राशि में हो तो स्वराशि का तथा मकर राशि में होने पर उच्च का होता है। यदि किसी की कुंडली में मंगल ग्रह ऐसी स्थिति में है तो, मसूर की दाल, मिष्ठान अथवा अन्य किसी मीठे खाद्य पदार्थ का दान ना करें।
हरे रंग के पदार्थ : बुध मिथुन राशि में हो तो स्वराशि तथा कन्या राशि में हो तो उच्च राशि का कहलाता है। यदि किसी जातक की जन्मपत्रिका में बुध उपरोक्त वर्णित किसी स्थिति में है तो, उसे हरे रंग के पदार्थ और वस्तुओं का दान कभी नहीं करना चाहिए।
पीले रंग के पदार्थ: बृहस्पति जब धनु या मीन राशि में हो तो स्वगृही तथा कर्क राशि में होने पर उच्चता को प्राप्त होता है। जिस जातक की कुंडली में बृहस्पति ग्रह ऐसी स्थिति में हो तो, उसे पीले रंग के पदार्थों जैसे कपड़े, अनाज आदि का दान नहीं करना चाहिए।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta