धर्म-अध्यात्म

Safalta Ki Kunji: इन गलत आदतों के कारण जमा पूंजी देखते ही देखते हो जाती है नष्ट, लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त नहीं होती है

Tulsi Rao
8 Sep 2021 10:33 AM GMT
Safalta Ki Kunji: इन गलत आदतों के कारण जमा पूंजी देखते ही देखते हो जाती है नष्ट, लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त नहीं होती है
x
चाणक्य नीति (Chanakya Niti) कहती है कि व्यक्ति को अपनी आदतों को लेकर गंभीर रहना चाहिए, जो लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं उन्हें लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त नहीं होती है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। Safalta Ki Kunji, Motivational Thoughts in Hindi: सफलता की कुंजी कहती है कि व्यक्ति के गुण ही व्यक्ति को सफल और असफल बनाते हैं. व्यक्ति जब गलत आदतों को अपना लेता है तो उसे इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ते हैं. गलत आदतें व्यक्ति के मन, मस्तिष्क पर तो बुरा प्रभाव डालती हैं, इसके साथ ही साथ उसकी प्रतिभा और जमा पूंजी को नष्ट करती हैं. इसलिए व्यक्ति को यदि सफल और धनवार बनना है तो गलत आदतों से दूर ही रहना चाहिए.

गीता में भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं कि व्यक्ति को अपने आचरण को श्रेष्ठ बनाने का प्रयास करना चाहिए. जो व्यक्ति अवगुणों से युक्त होता है, सफलता सदैव उससे दूर रहती है. सम्मान और सफलता तभी प्राप्त होता है, जब व्यक्ति अच्छे गुणों को अपना कर, अपने आचरण को श्रेष्ठ बनाने का प्रयत्न करता है. ऐसे लोगों पर माता सरस्वती और लक्ष्मी जी की विशेष कृपा बनी रहती है. जीवन में यदि सफलता प्राप्त करनी है, आर्थिक संकटों से दूर रहना है तो इन गलत आदतों को कभी न अपनाएं-
गलत संगत- सफलता की कुंजी की कहती है कि व्यक्ति की सफलता उसकी संगत पर भी निर्भर करती है. व्यक्ति कितना ही काबिल क्यों न हो, यदि उसकी संगत ठीक नहीं है, उसे हमेशा सफलता और सम्मान प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना पड़ता है. ऐसे लोगों के पास धन भी नहीं रूकता है. ऐसे लोगों की जमा पूंजी बहुत जल्द नष्ट हो जाती है.
नशा- सफलता की कुंजी कहती है कि व्यक्ति को हर बुरी आदतों से दूर रहने का प्रयास करना चाहिए. इसी प्रकार नशे की आदत से भी दूरी बनाकर रखनी चाहिए. नशा आदि करने वालों का सुख-चैन नष्ट हो जाता है. ऐसे लोगों में आत्मविश्वास की कमी बनी रहती है. नशा व्यक्ति का तो अहित करता ही, उससे जुड़े हुए लोगों को भी दुख और कष्ट प्रदान करता है. नशा की लत, पूंजी का संचय नहीं होने देती है, जिस कारण आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta